भारत में आतंक फैला रहे संगठनों अलकायदा और लश्कर-ए-तैयबा को पनाह दे रहा है तालिबान

संयुक्‍त राष्‍ट्र के 'एनालिटिकल सपोर्ट एंड सैंक्शंस मॉनिटरिंग टीम' की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में आतंकी हमलों को अंजाम दे रहे संगठनों को तालिबान से मदद मिल रही है.

News18Hindi
Updated: June 22, 2019, 1:00 AM IST
भारत में आतंक फैला रहे संगठनों अलकायदा और लश्कर-ए-तैयबा को पनाह दे रहा है तालिबान
शांति वार्ता की बात करने वाला तालिबान आतंकियों का पनाहगाह (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
News18Hindi
Updated: June 22, 2019, 1:00 AM IST
तालिबान भारत को निशाना बनाने वाले लश्‍कर-ए-तैयबा, अलकायदा और अन्‍य आतंकवादी समूहों को पनाह दे रहा है. संयुक्‍त राष्‍ट्र के एक्‍सपर्ट की एक रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि तालिबान न सिर्फ इन आतंकी संगठनों को संरक्षण दे रहा है बल्कि इन्हें हमलों को अंजाम देने के लिए संसाधन भी मुहैया करा रहा है.

संयुक्‍त राष्‍ट्र के 'एनालिटिकल सपोर्ट एंड सैंक्शंस मॉनिटरिंग टीम' की रिपोर्ट में कहा गया है कि विदेशी लड़ाके कई अफगान प्रांतों में तालिबान के अधिकार के तहत काम कर रहे हैं. खुफिया और विदेश-नीति के अधिकारी लंबे समय से इसकी चेतावनी जारी कर रहे हैं. उनका कहना है कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब अफगानिस्‍तान फिर से आतंकी संगठनों के हब के रूप में तब्‍दील हो जाएगा.

भारत के खिलाफ काम कर रहे आतंकी संगठनों को कर रहा है सपोर्ट
संयुक्‍त राष्‍ट्र की पिछले सप्‍ताह की रिपोर्ट में कहा गया है कि तालिबान के अलकायदा का भारतीय उपमहाद्वीप में सक्रिय अलकायदा, हक्‍कानी नेटवर्क और लश्कर-ए-तैयबा के साथ मजबूत संबंध हैं. इसके साथ ही इस्लामिक मूवमेंट ऑफ उज्बेकिस्तान और ईस्ट तुर्किस्तान इस्लामिक मूवमेंट जैसे अन्‍य 20 संगठनों के साथ भी संबंध हैं.

इसके अलावा भारत में 26/11 समेत कई आतंकी घटनाओं को अंजाम देने वाले लश्‍कर-ए-तैयबा, नई दिल्‍ली समेत देश के कई हिस्‍सों में आतंकी हमले करने वाले अलकायदा को समीउल हक का संरक्षण प्राप्‍त है जो भारत के लिए बड़ा खतरा है.

दिखावे के लिए कर रहा है शांति की बात
अंतरराष्‍ट्रीय दबाव में वैसे तो तालिबान शांति की बात करता है, लेकिन अफगानिस्‍तान में लश्‍कर और अलकायदा को सुरक्षित पनाह मुहैया कराता है. वैसे तो सीमा पर लगातार गोलीबारी करने के कारण पाकिस्‍तान पर भी अंतरराष्‍ट्रीय दबाव बढ़ गया है, जिसके कारण पाकिस्‍तान आतंकवाद और आतंकी प्रशिक्षण केंद्रों पर नकेल कसने का दावा कर रहा है. हालांकि, भारतीय खुफिया एजेंसियों को डर है कि आतंकवाद एक सीमा से दूसरी सीमा पर स्‍थानांतरित किया जा सकता है.
Loading...

अभी हाल में रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) ने अफगानिस्‍तान में उभरते आतंकवाद को भारत के लिए खतरा बताया है. तालिबान अभियान का सामना कर रहे अफगानिस्‍तान के 421 जिलों में से 25 पर तालिबान का नियंत्रण है.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान को FATF से बड़ा झटका, ग्रे लिस्ट में बना रहेगा
First published: June 21, 2019, 11:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...