लाइव टीवी

संयुक्त राष्ट्र की चेतावनी- पिछला दशक सर्वाधिक गर्म, आने वाला दशक और गर्म होगा

भाषा
Updated: January 16, 2020, 5:35 AM IST
संयुक्त राष्ट्र की चेतावनी- पिछला दशक सर्वाधिक गर्म, आने वाला दशक और गर्म होगा
संयुक्त राष्ट्र की संस्था ने अगले दशक के और गर्म होने की चेतावनी दी है (ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में आग की फाइल फोटो, AP)

संयुक्त राष्ट्र के विश्व मौसम संगठन (WMO) के प्रमुख पेटेरी तालस ने एक बयान में कहा, “दुर्भाग्यवश वर्ष 2020 में और आने वाले दशकों में मौसम अत्यधिक ठंडा और अत्यधिक गर्म (extreme weather) रहने का अनुमान है.

  • Share this:
जेनेवा. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने बुधवार को कहा कि पिछला दशक सर्वाधिक गर्म (Hottest) दर्ज किया गया. संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी कि वर्ष 2020 और आने वाले सालों में उच्च तापमान (High Temperature) के कारण मौसम (Weather) अत्यधिक ठंडा और गर्म रहेगा.

विश्व मौसम विभाग (World Meteorological Organization- WMO) जिसकी जानकारियां प्रमुख अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों के डाटा का अध्ययन करने जुटाई गई हैं, इसने यूरोपियन यूनियन के क्लाइमेट मॉनिटर (European Union's Climate Monitor) के आंकड़ों पर मुहर लगा दी है. पिछले हफ्ते संस्था ने आंकड़े जारी करते हुए साल 2019 को अभी तक दर्ज किए गए सबसे गर्म सालों में दूसरा सबसे गर्म साल बताया था. इन आंकड़ों के मुताबिक अब तक दर्ज किया गया सबसे गर्म साल 2016 रहा है.

ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग को लेकर कहा- '2019 जहां खत्म हुए 2020 वहीं शुरू'
संयुक्त राष्ट्र के विश्व मौसम संगठन (WMO) के प्रमुख पेटेरी तालस ने कहा है कि 2020 भी वहीं से शुरू हो रहा है, जहां पर 2019 खत्म हुआ था. ऐसी घटनाओं के साथ जिनका मौसम और पर्यावरण पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ने वाला है. जाहिर है अपनी इस बात के दौरान पेटेरी तालस ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी हुई आग की ओर इशारा कर रहे थे.

2020 और आने वाले दशकों में मौसम अत्यधिक ठंडा और अत्यधिक गर्म रहेगा
संयुक्त राष्ट्र की इस एजेंसी ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय औसत तापमान (average global temperatures) पिछले पांच सालों (2015-19) और पिछले दस सालों (2010-19) के दौरान अब तक का रिकॉर्ड किया गया सबसे ज्यादा औसत तापमान रहा है.

संयुक्त राष्ट्र के विश्व मौसम संगठन (WMO) के प्रमुख पेटेरी तालस ने एक बयान में कहा, “दुर्भाग्यवश वर्ष 2020 में और आने वाले दशकों में मौसम अत्यधिक ठंडा और अत्यधिक गर्म रहने का अनुमान है. वातावरण में ग्रीनहाउस गैसों (greenhouse gases) द्वारा अधिक ऊष्मा सोख लेने के कारण ऐसा होगा.”यह भी पढ़ें: अगर भारत ने खरीद लिया होता ये इलाका तो पाकिस्तान होता बेहद कमजोर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 5:35 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर