अपना शहर चुनें

States

अमेरिका की सरकारी एजेंसी ने राष्ट्रपति चुनाव में बाइडन को विजेता माना, ट्रंप के रास्ते बंद

अमेरिका की सरकारी एजेंसी ने भी बाइडन को विजेता माना.
अमेरिका की सरकारी एजेंसी ने भी बाइडन को विजेता माना.

US Election Result: अमेरिका की एक सरकारी एजेंसी ने निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के दबाव के बावजूद जो बाइडन (Joe Biden) को राष्ट्रपति चुनावों के विजेता के रूप में मान्यता प्रदान कर दी है. बता दे कि 14 दिसंबर को राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे जबकि 20 जनवरी को शपथ ग्रहण होना तय है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2020, 7:57 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) को प्रेजिडेंट इलेक्ट जो बाइडन (Joe Biden) के खिलाफ कानूनी लड़ाई में लगातार मिल रही असफलता के बीच अमेरिका की एक सरकारी एजेंसी ने बदलाव को आगे बढ़ाने की प्रक्रिया के लिए पड़ रहे दबाव के बीच बाइडन को विजेता के रूप में मान्यता प्रदान कर दी है. ये ट्रंप के लिया बड़ा झटका है, हालांकि उन्होंने खुद भी व्हाइट हाउस के अधिकारियों को सत्ता हस्तांतरण के लिए ज़रूरी कदम उठाने की इजाजत दे दी है.

वाशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक जनरल सर्विसेज एडमिनिस्ट्रेशन (जीएसए) की प्रशासक एमिली मर्फी के बहुप्रतीक्षित निर्णय के बाद अब आगामी बाइडन टीम की संघीय संसाधनों, विभिन्न संघीय एजेंसियों और खुफिया जानकारियों तक पहुंच होगी. राष्ट्रपति चुनाव के बाद बदलाव की प्रक्रिया को औपचारिक रूप से आगे बढ़ाने का दायित्व जीएसए का है. मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मतगणना में धांधली का आरोप लगाकर खुद को चुनाव विजेता कहते आ रहे थे. अमेरिका में तीन नवंबर को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव हुआ था जिसमें रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार बाइडन थे.

14 दिसंबर को राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे
डोनाल्ड ट्रंप से लगातार हार को स्वीकार करने की मांग के बीच बाइडन की टीम के सहयोगियों के नाम सामने रखे गए हैं. ट्रंप ने बिना सबूत अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में व्यापक धांधली का आरोप मढ़ा है और चुनाव परिणामों को लेकर वे लगातार क़ानूनी प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की बात कहते रहे हैं. पिछले दो सप्ताह से अधिक समय से मर्फी डेमोक्रेटिक पार्टी के नेताओं, राष्ट्रीय सुरक्षा विशेषज्ञों और स्वास्थ्य अधिकारियों की ओर से आलोचना का सामना करती आ रही थीं. आलोचकों का कहना था कि बदलाव की प्रक्रिया को औपचारिक रूप से आगे बढ़ाने में विलंब के चलते कोविड-19 और राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर आगामी बाइडन प्रशासन के प्रयास बाधित हो रहे हैं.
मर्फी ने आखिरकार बाइडन के नाम ‘मान्यता पत्र’ में लिखा कि ट्रंप प्रशासन बदलाव की औपचारिक प्रक्रिया शुरू करने के लिए तैयार है. पत्र प्रशासन द्वारा ट्रंप की हार स्वीकार किए जाने की दिशा में पहला कदम है. यह खबर ऐसे समय आई है जब अब तक हार स्वीकार न करनेवाले ट्रंप ने ट्वीट किया कि वह जीएसए और अपने प्रशासन में अन्य को राष्ट्रपति की शक्ति के औपचारिक स्थानांतरण के लिए ‘‘शुरुआती प्रोटोकॉल’’ शुरू करने की सिफारिश कर रहे हैं. ट्रंप ने जहां यह कहा कि इस कदम की उन्होंने सिफारिश की, वहीं मर्फी ने कहा कि उन्होंने कानून और उपलब्ध तथ्यों के आधार पर स्वतंत्र रूप से निर्णय लिया है. इस बीच, बाइडन टीम ने बदलाव की प्रक्रिया शुरू होने का स्वागत किया है.





एक अनुमान के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जो बाइडन को 306 इलेक्टोरल वोट जबकि डोनाल्ड ट्रंप को 232 वोट मिले. हालांकि जीत किसकी हुई है इसकी आधिकारिक घोषणा अभी बाकी है. अमेरिकी इलेक्टोरल कॉलेज की तरफ से 14 दिसंबर को राष्ट्रपति चुनाव के विजेता की औपचारिक पुष्टि की जाएगी. राष्ट्रपति चुनाव जीतने के लिए बाइडन को 270 इलेक्टोरल वोट की ज़रूरत थी और जितने वोट उनके पक्ष में बताए जा रहे हैं वो जादुई आंकड़े से 37 अधिक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज