Travel Restrictions: कोरोना की वजह से UAE ने भारत से उड़ानों पर 14 जून तक लगाई रोक

बीते साल अप्रैल में कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद 20 से अधिक देशों ने भारत से यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया था

बीते साल अप्रैल में कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद 20 से अधिक देशों ने भारत से यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया था

Travel Restrictions: संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के राष्ट्रीय आपातकालीन संकट और आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NCEMA) ने 25 अप्रैल को भारत के यात्रियों पर अनिश्चित काल के लिए प्रतिबंध लगाया था. अब यह प्रतिबंध 14 जून तक बढ़ा दिया गया है.

  • Share this:

दुबई. भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus Outbreak in India) के नए स्ट्रेन और लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए संयुक्त अरब अमीरात (UAE) एयरलाइंस ने भारत और यूएई के बीच पैसेंजर फ्लाइट्स पर 14 जून तक के लिए प्रतिबंध लगा दिया है. एयरलाइंस ने एक बयान में कहा कि जिन यात्रियों ने पिछले 14 दिन में अगर भारत से होकर ट्रांजिट भी किया है, अब से उन्हें भी यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी. संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के राष्ट्रीय आपातकालीन संकट और आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NCEMA) ने 25 अप्रैल को भारत के यात्रियों पर अनिश्चित काल के लिए प्रतिबंध लगाया था. अब यह प्रतिबंध 14 जून तक बढ़ा दिया गया है.

दुबई स्थित मेगा कैरियर अमीरात ने रविवार को अपनी वेबसाइट पर कहा- 'अमीरात ने 14 जून, 2021 तक भारत से यात्री उड़ानों को निलंबित कर दिया है. इसके अलावा पिछले 14 दिनों में भारत से गुजरने वाले यात्रियों को किसी दूसरे ट्रांजिट पॉइंट से यूएई की यात्रा करने के लिए स्वीकार नहीं किया जाएगा. यूएई के नागरिक, यूएई गोल्डन वीजा धारक और राजनयिक मिशन के सदस्य जो संशोधित कोरोना वायरस प्रोटोकॉल का पालन करते हैं, उन्हें यात्रा के लिए छूट दी जाएगी.'

Hajj 2021: इस साल 60 हजार विदेशी भी कर सकेंगे हज, सऊदी सरकार ने दी इजाजत

बता दें कि बीते साल अप्रैल में कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद 20 से अधिक देशों ने भारत से यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया था. कनाडा, हांगकांग में अभी आंशिक प्रतिबंध है. वहीं, यूएस, यूके, जर्मनी और यूएई ट्रैवेल बैन तभी हटाएंगे, जब देश में महामारी नियंत्रण में आ जाएगी.


यूएई एयरलाइंस के इस फैसले के बाद दिल्ली के एक ट्रैवल एजेंट ने कहा- 'यह सबसे अच्छा है कि लोग विभिन्न देशों द्वारा घोषित तारीखों से यात्रा फिर से शुरू होने की उम्मीद में हवाई टिकट नहीं खरीदते हैं, ऐसे में उनका पैसा नहीं फंसेगा. वैसे भारत में जब तक हालात काबू में नहीं आ जाते, तब तक अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को दोबारा शुरू नहीं किया जाना चाहिए.'


आपको बता दें कि यूएई ने पिछले कुछ दिनों में भारत में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस म्यूटेंट को अपने यहां फैसले से रोकने के लिए कड़े नियमों को लागू किया है. सरकार ने बिजनेस जेट ऑपरेटरों पर कोविड हॉटस्पॉट देश से गुजरने वाले चार्टर्स की सीटें बेचने से रोक लगा दिया है. साथ ही कोई भी व्यक्ति जो पिछले 14 दिनों में भारत में रहा हो, वह किसी तीसरे देश से होते हुए भी संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा नहीं कर सकता.



अपने सीवेज में कोरोना वायरस की मौजूदगी जांच रहा है ब्रिटेन, जानें वजह

इस महीने की शुरुआत में यूएई जनरल सिविल एविएशन अथॉरिटी (जीसीएए) ने फैसला सुनाया था कि अगले आदेश तक केवल अधिकतम आठ यात्री ही बिजनेस जेट से यूएई में उड़ान भर सकते हैं. जीसीएए ने कहा था, 'विमान के आकार के आधार पर, व्यावसायिक जेट छह से 35 यात्रियों के बीच कुछ भी समायोजित कर सकते हैं. हालांकि, व्यावसायिक विमान या छोटे-बॉडी वाले निजी जेट की आवश्यकताएं स्पष्ट रूप से बताती हैं कि एक उड़ान में यात्रियों की संख्या आठ यात्रियों से अधिक नहीं हो सकती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज