लाइव टीवी

दिल्ली हिंसा पर संयुक्त राष्ट्र प्रमुख की करीबी नज़र, बोले- शांतिपूर्ण तरीके से करने दें प्रदर्शन

News18Hindi
Updated: February 26, 2020, 3:10 PM IST
दिल्ली हिंसा पर संयुक्त राष्ट्र प्रमुख की करीबी नज़र, बोले- शांतिपूर्ण तरीके से करने दें प्रदर्शन
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस

संयुक्त राष्ट्र (United Nation) महासचिव एंतोनियो गुतारेस (António Guterres) प्रदर्शनकारियों को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने देने और सुरक्षाबलों से संयम बरतने की सलाह दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2020, 3:10 PM IST
  • Share this:
संयुक्त राष्ट्र. दिल्ली में हो रहे प्रदर्शन ने हिंसा का रूप ले लिया है. इस बढ़ती हुई हिंसा को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस (António Guterres) नई दिल्ली की मौजूदा स्थिति पर करीबी नजर बनाए हुए हैं. साथ ही उन्होंने प्रदर्शनकारियों को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने देने और सुरक्षाबलों से संयम बरतने की सलाह दी है. प्रदर्शनकारियों से देश की सभी पार्टियों ने भी शांति बनाए रखने की अपील की है.

शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन की कि अपील
महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने दैनिक मीडिया कॉन्फ्रेंस में कहा, 'मुझे लगता है कि यह बेहद जरूरी है कि प्रदर्शनकारियों को शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करने दिया जाए और सुरक्षाबल सयंम बरतें.' संयुक्त राष्ट्र के स्थिति पर नजर रखने के सवाल पर दुजारिक ने कहा, जी हां, हम निश्चित तौर पर स्थिति पर करीबी नजर बनाए हुए हैं.

गौरतलब है कि दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (CAA) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया. उपद्रवियों ने कई घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया. इन घटनाओं में बुधवार तक कम से कम 20 लोगों की जान चली गई और करीब 200 लोग घायल हो गए.



अमेरिकी सांसदों ने भी जताई चिंता
उधर अमेरिकी सांसदों ने दिल्ली हिंसा को लेकर हिंसा जताई है. जयपाल ने ट्वीट किया, 'लोकतांत्रिक देशों को विभाजन और भेदभाव बर्दाशत नहीं करना चाहिए या ऐसे कानून को बढ़ावा नहीं देना चाहिए जो धार्मिक स्वतंत्रता को कमजोर करता हो. दुनिया देख रही है.'

सांसद एलन लोवेन्थाल ने भी हिंसा को ‘नैतिक नेतृत्व की दुखद विफलता’ करार दिया. उन्होंने कहा, हमें भारत में मानवाधिकार पर खतरे के बारे में बोलना चाहिए. राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की दावेदार एवं सांसद एलिजाबेथ वारेन ने कहा, 'भारत जैसे लोकतांत्रिक साझेदारों के साथ संबंधों को मजबूत करना अहम है लेकिन हमें मूल्यों पर सच्चाई से बात करनी चाहिए जिनमें धार्मिक स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता शामिल है. शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हिंसा स्वीकार्य नहीं है.'

ये भी पढ़ें: PM मोदी ने हिंसा पर जताई चिंता, दिल्ली वालों से शांति बनाए रखने की अपील की

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 2:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर