लाइव टीवी

2010 के बाद अमेरिका में स्पैनिश का सर्वाधिक विस्तार, हिंदी को तेलुगू-तमिल ने पछाड़ा


Updated: October 31, 2019, 11:14 AM IST
2010 के बाद अमेरिका में स्पैनिश का सर्वाधिक विस्तार, हिंदी को तेलुगू-तमिल ने पछाड़ा
Foreign Language

अमेरिका में हिंदी बोलने वालों की संख्या में 2010 से 2018 के बीच 2,65,000 लोगों की बढ़ोतरी हुई. जबकि वृद्धि दर के हिसाब से तेलुगू में 79.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई. इसी तरह तमिल भी अमेरिका में 2010 और 2018 के बीच 67.5 फीसदी बढ़ी.

  • Last Updated: October 31, 2019, 11:14 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. यूं तो अमेरिका (United States of America) में हिंदी सबसे अधिक बोले जाने वाली भारतीय भाषा है लेकिन यहां तेलुगू (Telugu Language) और तमिल (Tamil Language) सबसे तेजी बढ़ीं. अमेरिकन कम्युनिटी सर्वे (America Community Survey) के ताजा आंकड़े बताते हैं कि सात समंदर पार हिंदी का वर्चस्व संख्याबल के आधार पर बरकरार है. 2010 की तुलना में 2018 तक हिंदी की तुलना में तेलुगू बोलने वालों की संख्या में तेजी से वृद्धि दर्ज गई है. हालांकि पिछले एक साल में तेलुगू और गुजराती दोनो भाषाओं को बोलने वालों की संख्या में कमी आई है.

अमेरिका में हिंदी बोलने वालों की संख्या में 2010 से 2018 के बीच 2,65,000 लोगों की बढ़ोतरी हुई. जबकि वृद्धि दर के हिसाब से तेलुगू में 79.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई. इसी तरह तमिल भी अमेरिका में 2010 और 2018 के बीच 67.5 फीसदी बढ़ी. इसी दौरान 43.5 प्रतिशत हिंदी बोलने वाले भी बढ़े. हिंदी, तेलुगू, तमिल के अलावा बोले जाने वाली भारतीय भाषाओं में गुजराती और बंगाली की संख्या भी उल्लेखनीय है.

इनके अलावा अमेरिका में जो विदेश भाषाएं बोली जातीं हैं उनमें ऊर्दू और पंजाबी भी हैं लेकिन इन्हें बोलने वालों में भारतीयो के साथ पाकिस्तानी मूल की जनसंख्या भी शामिल है.

Hindi continues to be the most widely spoken Indian language in the US - ACS report
हिंदी बनी सबसे अधिक बोलने वाली भाषा


अमेरिका के थिंक टैंक सेंटर फॉर इमिग्रेशन स्टडीज (Center for Immigration Studies) की माने तो यहां प्रवासियों की संख्या में 1980 से तीन गुना बढ़ गए हैं. 1990 के दशक से इस संख्या में दोगुनी वृद्धि हुई है.  CIS के मुताबिक अमेरिका के पांच सबसे बड़े शहरों की लगभग आधी जनसंख्या किसी-न-किसी विदेशी भाषा का इस्तेमाल करती है. अमेरिका अंग्रेजी के अलावा जो भाषाएं बोलीं जाती हैं उनमें 2010 के पश्चात सबसे अधिक विस्तार स्पैनिश भाषा का दर्ज किया गया है.

2010 से 2018 के बीच स्पैनिश बोलने वालों की संख्या में 45 लाख लोगों की वृद्धि हुई. इस दौरान चीनी बोलने वाले 6.63 लाख नए लोग जु़ड़े. इसी तरह अरबी भाषा का उपयोग करने वाले 3.94 लाख लोग बढ़े.
अमेरिका में लगभग 38 प्रतिशत लोग ठीक से अंग्रेजी नहीं बोल पाते. यहां का सेंसेस ब्यूरो ऐसे लोगों का आंकड़ा अलग से दर्ज करता है. CIS का मानना है अमेरिकी परिवेश में घुलने मिलने के लिए प्रवासियों को अंग्रेजी की ठीकठाक जानकारी होना अनिवार्य है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

ऑस्ट्रेलिया में शार्क अटैक के बाद दहशत में पर्यटक, उठी ये मांग...

वर्तमान मानव प्रजाति के पहले कदम धरती पर यहां पड़े थे..

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 11:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...