चीन की वुहान लैब से ही कोरोना वायरस लीक होने की पूरी संभावना- अमेरिकी रिपोर्ट का निष्‍कर्ष

वुहान लैब से कोरोना वायरस लीक होने के लगते रहे हैं आरोप. (File pic)

वुहान लैब से कोरोना वायरस लीक होने के लगते रहे हैं आरोप. (File pic)

Coronavirus: अमेरिका की गवर्नमेंट नेशनल लैबोरेटरी की रिपोर्ट में यह निष्‍कर्ष निकला है कि मुमकिन है कि चीन की वुहान लैब (Wuhan Lab) से कोरोना वायरस लीक हुआ है और इसकी जांच आगे भी की जाई जानी चाहिए.

  • Share this:

वॉशिंगटन. कोरोना वायरस (Coronavirus) की उत्‍पत्ति कहां से हुई? ये पता लगाने के लिए किया गया अमेरिकी अध्‍ययन (US Study on Coronavirus) पूरा हो गया है. अमेरिका की गवर्नमेंट नेशनल लैबोरेटरी की रिपोर्ट में यह निष्‍कर्ष निकला है कि मुमकिन है कि चीन की वुहान लैब (Wuhan Lab) से कोरोना वायरस लीक हुआ है और इसकी जांच आगे भी की जाई जानी चाहिए. वॉल स्‍ट्रीट जर्नल ने सोमवार को इस अध्‍ययन से जुड़े लोगों के हवाले से यह रिपोर्ट प्रकाशित की है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह अध्ययन मई 2020 में कैलिफोर्निया स्थित लॉरेंस लिवरमोरे नेशनल लैबोरेटरी द्वारा तैयार किया गया था और ट्रंप प्रशासन के अंतिम महीनों के दौरान कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच के दौरान विदेश विभाग द्वारा संदर्भित किया गया था.

जर्नल ने कहा है कि लॉरेंस लिवरमोरे का यह अनुमान कोरोना वायरस के जीनोमिक विश्लेषण पर आधारित है. लॉरेंस लिवरमोरे ने वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है.

पिछले महीने ही अमेरिका के राष्‍ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि कोरोना वायरस की उत्‍पत्ति से जुड़े जवाब जानने के लिए उन्‍होंने आदेश दिए थे. वहीं अमेरिकी खुफिया एजेंसियां ​​दो संभावित परिदृश्यों पर विचार कर रही हैं. इनमें से पहला है कि कोरोना वायरस एक लैब दुर्घटना के परिणाम से हुआ. दूसरा है कि क्‍या यह एक संक्रमित जानवर के साथ इंसानी संपर्क के कारण उभरा. लेकिन वे अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे हैं.


अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के शासन के दौरान प्रसारित एक खुफिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि नवंबर 2019 में चीन के वुहान इंस्‍टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के तीन शोधकर्ता इतने बीमार हो गए थे कि उन्‍हें अस्‍पताल भेजना पड़ा था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज