चीन पर बढ़ी अमेरिका की सख्ती, Huawei के कर्मचारियों पर लगाए वीजा प्रतिबंध

चीन पर बढ़ी अमेरिका की सख्ती, Huawei के कर्मचारियों पर लगाए वीजा प्रतिबंध
अमेरिका ने चीनी कंपनी हुआवेई के कर्मचारियों पर वीजा प्रतिबंध लगा दिये हैं.

संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of America) के विदेश मंत्री माइक आर पॉम्पियो (Michael R. Pompeo) ने कहा कि विदेश विभाग मानवाधिकार हनन (Human Rights Violation) के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 15, 2020, 11:00 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिका (America) ने चीनी कंपनी हुआवेई (Huawei) के कुछ कुछ कर्मचारियों पर प्रतिबंध लगा दिये हैं. संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of America) के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो (Michael R. Pompeo) ने कहा कि विदेश विभाग मानवाधिकार हनन (Human Rights Violation) के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने जा रहा है. इनमें चीनी प्रौद्योगिकी कंपनियों (Chinese Technology Companies) के कर्मचारी दमनकारी शासन को निगरानी उपकरण प्रदान करने में शामिल हैं.

पॉम्पियो ने कहा संयुक्त राज्य अमेरिका लंबे समय से दुनिया के सबसे उत्पीड़ित लोगों के लिए आशा की किरण है, और उन लोगों के लिए एक आवाज है जिन्हें चुप करा दिया गया है. हम चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (Chinese Communist Party) के मानवाधिकारों के हनन के बारे में विशेष रूप से मुखर रहे हैं, जिनका दुनिया में सबसे खराब दर्जा रहा है. पॉम्पियो ने आगे कहा कि आज, विदेश विभाग चीनी प्रौद्योगिकी कंपनियों के कुछ कर्मचारियों पर वीजा प्रतिबंध लगा रहा है जो वैश्विक स्तर पर मानवाधिकारों के हनन में संलग्न शासकों को सामग्री मुहैया कराते हैं. आव्रजन (Immigration) और राष्ट्रीयता अधिनियम की धारा 212 (ए) (3) (सी) के तहत, एक बाहरी संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए अमान्य है, अगर राज्य के सचिव के पास उस बाहरी के प्रवेश पर विश्वास करने का कारण है "तो संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए संभावित रूप से गंभीर प्रतिकूल विदेश नीति परिणाम होंगे."

अमेरिका ने विश्व को दिया ये संदेश
अमेरिका के विदेश मंत्री  पॉम्पियो ने कहा आज की कार्रवाई से प्रभावित कंपनियों में हुआवेई भी शामिल है, जो कि सीसीपी के निगरानी राज्य की एक शाखा है जो राजनीतिक विरोधियों को सेंसर करती है. इसके साथ-साथ यह शिनजियांग में बड़े पैमाने पर इंटर्नशिप कैंपों को सक्षम बनाती है और पूरे चीन में इसकी आबादी के गिरमिटिया सर्वेंट को शामिल करती है. ह्यूवेई के कुछ कर्मचारी सीसीपी शासन को सामग्री मुहैया कराते हैं जो मानव अधिकारों का हनन करता है.



पॉम्पियो ने विश्व को संदेश देते हुए कहा कि दुनिया भर की दूरसंचार कंपनियों को खुद नोटिस पर विचार करना चाहिए. यदि वे हुआवेई के साथ व्यापार कर रहे हैं, तो वे मानव अधिकारों के साथ व्यापार कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading