अपना शहर चुनें

States

अमेरिकी राजदूत ने अफगानिस्तान और तालिबान द्वारा कैदियों की रिहाई को बताया 'महत्वपूर्ण कदम'

ईद के मौके पर तालिबान ने 3 दिन के सीजफायर का ऐलान किया है.
ईद के मौके पर तालिबान ने 3 दिन के सीजफायर का ऐलान किया है.

अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत जलमे खलीलजाद ने ट्वीट किया, 'शांति स्थापित करने और हिंसा कम करने की दिशा में कैदियों की रिहाई एक महत्वपूर्ण कदम है.'

  • Share this:
काबुल. तालिबान (Taliban) से समझौते के लिए बातचीत करने वाले अमेरिकी विशेष राजदूत ने अफगानिस्तान (Afghanistan) सरकार और तालिबान द्वारा एक-दूसरे के कैदियों को छोड़ने के कदम को सोमवार को शांति की दिशा में महत्वपूर्ण बताया. रेड क्रास (Red Cross) की अंतरराष्ट्रीय समिति के अनुसार तालिबान ने कैद में रखे अफगानिस्तान सुरक्षा बल के 20 कर्मियों को रिहा किया है.

सरकार द्वारा पिछले सप्ताह तालिबान के सैकड़ों कैदी रिहा करने के बाद तालिबान ने यह कदम उठाया.  अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत जलमे खलीलजाद ने ट्वीट किया, 'शांति स्थापित करने और हिंसा कम करने की दिशा में कैदियों की रिहाई एक महत्वपूर्ण कदम है.' उन्होंने कहा,  'दोनों पक्षों को अमेरिका-तालिबान समझौते में तय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए प्रयास तेज करने चाहिए.'

खलीलजाद और तालिबान ने 29 फरवरी को एक समझौता किया था. इसके तहत अमेरिकी और अन्य विदेशी बलों की वापसी के लिए कई शर्तें तय की गईं थी. समझौते के अनुसार अफगानिस्तान सरकार तालिबान के 5,000 कैदी रिहा करने हैं और तालिबान अफगानिस्तान सुरक्षा बल के 1,000 कर्मियों को छोड़ेगा.



ये भी पढ़ें - सीरिया पर भी मंडराया कोरोना का खतरा, युद्ध में बर्बाद हो गए हैं अस्पताल!
               इजराइल के पूर्व प्रमुख रब्बी एलियाहू बख्शी की कोरोना संक्रमण से मौत

 

 

 

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज