Home /News /world /

खस्ताहाल अफगानिस्तान के लिए US की बड़ी घोषणा, मानवीय मदद के लिए देगा 1079 हजार करोड़

खस्ताहाल अफगानिस्तान के लिए US की बड़ी घोषणा, मानवीय मदद के लिए देगा 1079 हजार करोड़

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन (AP)

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन (AP)

America helps Afghanistan: अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने अफगानिस्तान में मानवीय मदद के लिए 144 मिलियन अमेरिकी डॉलर (करीब 1079 हजार करोड़ रुपए) देने की घोषणा की है. ब्लिंकेन ने कहा है कि इसके साथ ही इस साल में अफगानिस्तान को अमेरिका द्वारा दी गई कुल मदद 474 मिलियन डॉलर की हो गई है. अमेरिका द्वारा दी गई ये मदद सीधे तौर पर अंतरराष्ट्रीय संगठनों जैसे UNHCR, UNICEF और WHO को दी जाएगी. दरअसल पहले से आर्थिक मुश्किलें झेल रहे हैं अफगानिस्तान में तालिबान का शासन आने के बाद स्थितियां बदतर होती जा रही हैं.

अधिक पढ़ें ...

    वाशिंगटन. अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन (Anthony Blinken) ने घोषणा की है कि युद्धग्रस्त और खस्ताहाल अफगानिस्तान (Afghanistan) की अमेरिका मदद करेगा. ब्लिंकेन ने अफगानिस्तान में मानवीय मदद के लिए 144 मिलियन अमेरिकी डॉलर (करीब 1079 हजार करोड़ रुपए) देने की घोषणा की है. ब्लिंकेन ने कहा है कि इसके साथ ही इस साल में अफगानिस्तान को अमेरिका द्वारा दी गई कुल मदद 474 मिलियन डॉलर की हो गई है. अमेरिकी विदेश विभाग के एक बयान के मुताबिक ये अफगानिस्तान के लिए दुनिया के किसी भी देश की तुलना में सबसे बड़ी मदद है.

    अमेरिका द्वारा दी गई ये मदद सीधे तौर पर अंतरराष्ट्रीय संगठनों जैसे UNHCR, UNICEF और WHO को दी जाएगी. दरअसल पहले से आर्थिक मुश्किलें झेल रहे हैं अफगानिस्तान में तालिबान का शासन आने के बाद स्थितियां बदतर होती जा रही हैं.

    हाल में अफगानिस्तान पर चर्चा को लेकर भारत, रूस, चीन सहित दुनिया के करीब 10 देशों ने बैठक की थी. इस बैठक में तालिबान ने दूसरे देशों को आश्वस्त किया था कि उसकी जमीन का इस्तेमाल दूसरे देश में आतंक फैलाने के लिए नहीं होने दिया जाएगा. तालिबान दुनियाभर से मान्यता पाने के प्रयासों में लगा हुआ है.

    खाद्य असुरक्षा को लेकर चेतावनी
    इस बीच संयुक्त राष्ट्र के वर्ल्ड फूड प्रोग्राम ने चेताया है कि नवंबर से अफगानिस्तान की आधी आबादी या 2.28 करोड़ लोग खाद्य असुरक्षा का सामना करेंगे. WFP की इस चेतावनी के कोविड-19 सूखा और संघर्ष जैसे कई कारण शामिल हैं, जिन्होंने बड़े स्तर पर देश में खाद्य व्यवस्था को प्रभावित किया है.

    तालिबान की ‘काम के बदले गेहूं’ योजना
    बढ़ती बेरोजगारी के बीच कुछ दिनों पहले तालिबान ने देश के लोगों को काम के बदले गेहूं देने का ऑफर दिया है. तालिबान ने भले ही लोगों को राहत देने के लिए ये स्कीम शुरू की है लेकिन देश इतने बुरे हालात में फंसा हुआ है कि इस प्रयास को बेहद कम माना जा रहा है.

    तालिबान प्रवक्ता जबिउल्लाह मुजाहिद ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा था  कि तालिबान सरकार ने एक कार्यक्रम लॉन्च किया है जिसके तहत लोगों को काम के बदले अनाज दिया जाएगा. मुजाहिद के मुताबिक ये कार्यक्रम देश के तकरीबन सभी बड़े शहरों में चलाया जाएगा. अकेले काबुल शहर में इसके तहत 40 हजार लोगों को रोजगार मुहैया करवाने की तैयारी है.

    Tags: Afghanistan, Antony Blinken, Taliban

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर