US ने चीन को दिया एक और बड़ा झटका! चीनी अफसरों के वीजा पर लगाए प्रतिबंध

US ने चीन को दिया एक और बड़ा झटका! चीनी अफसरों के वीजा पर लगाए प्रतिबंध
अमेरिकी ने चीनी अधिकारियों के वीजा पर लगाए प्रतिबंध

माइक पोम्पियो (Mike Pompeo) के मुताबिक तिब्बत के लिए विशेष अमेरिकी कानून के तहत यह प्रतिबंध लगाए हैं. उन्होंने ट्वीट किया, 'आज मैंने पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना (पीआरसी) के अफसरों के वीजा पर प्रतिबंध का ऐलान किया. ये अफसर दूसरे देशों के लोगों को तिब्बत पहुंचने से रोकने में शामिल थे.'

  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (US) और चीन (China) के बीच टेंशन बढ़ती ही जा रही है. इस बार अमेरिका ने चीन के कुछ अफसरों पर वीजा पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए हैं. विदेश मंत्री माइक पोम्पियो (Mike Pompeo)  के मुताबिक तिब्बत के लिए विशेष अमेरिकी कानून के तहत यह प्रतिबंध लगाए हैं. उन्होंने ट्वीट किया, 'आज मैंने पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना (पीआरसी) के अफसरों के वीजा पर प्रतिबंध का ऐलान किया. ये अफसर दूसरे देशों के लोगों को तिब्बत पहुंचने से रोकने में शामिल थे.'

पोम्पियो ने कहा- चीन अमेरिकी डिप्लोमैट्स, अफसरों, पत्रकारों और टूरिस्ट्स को तिब्बती स्वायत्त क्षेत्र (टीएआर) और वहां के दूसरे इलाकों तक नहीं जाने दे रहा. हमारे देश में चीन के लोगों और अफसरों पर को कहीं भी जाने की छूट है. उन्होंने कहा- चीनी अफसर तिब्बत में दूसरे देशों के लोगों के पहुंचने की नीतियां बनाते हैं और इन्हें लागू करते हैं. तिब्बत में वहां पहुंचना अहम है, क्योंकि वहां मानवाधिकारों का हनन होता है. पोम्पियो ने कहा- अमेरिका तिब्बत के लोगों के मानवाधिकारों का सम्मान करता है. वहां उनका ही शासन होना चाहिए. वहां की धार्मिक, सांस्कृतिक और भाषा की पहचान बचाई जानी चाहिए. यह तय किया जाएगा कि अमेरिकी लोग तिब्बत और चीन के सभी हिस्सों में जा सकें.

 





चीन कर रहा है जासूसी
उधर अमेरिका की सुरक्षा एजेंसी एफबीआई के निदेशक क्रिस्टोफर रे ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि आर्थिक और राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर चीन जासूसी करता है जो अमेरिका के लिए बड़ा खतरा है. उन्होंने साथ ही कहा कि एफबीआई में मौजूदा 5000 सक्रिय काउंटर इंटेलिजेंस मामलों में से आधे चीन से जुड़े हैं. क्रिस्टोफर रे ने मंगलवार को एक कार्यक्रम में कहा, 'अमेरिका में वर्तमान में चल रहे लगभग 5,000 सक्रिय एफबीआई काउंटर इंटेलिजेंस मामलों में से लगभग आधे चीन से संबंधित हैं. अब तो हालत यह है कि एफबीआई हर 10 घंटे में चीन-संबंधी नया मामला देख रही है.'

आखिर कैसे उड़ पाते हैं ये Flying Snakes, वैज्ञानिकों ने लगा लिया पता

उन्होंने आगे कहा, 'इसी वक्त चीन अमेरिकी स्वास्थ्य संगठनों, दवा कंपनियों और आवश्यक COVID-19 रिसर्च का संचालन करने वाले शैक्षणिक संस्थानों से समझौता करने के लिए काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि चीन से काउंटर इंटेलिजेंस और आर्थिक तौर पर उसका जासूसी करना अमेरिका की सूचना, सुरक्षा और आर्थिक क्षेत्र के लिए बड़ा खतरा है. रे ने कहा, 'यदि आप एक अमेरिकी व्यस्क हैं, तो इस बात की पूरी संभावना है कि चीन ने आपका व्यक्तिगत डेटा चुरा लिया है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज