अमेरिका: चीनी सेना को डेटा ट्रांसफर करते हुए अरेस्ट हुआ रिसर्चर, कई अन्य आरोप लगे

अमेरिका: चीनी सेना को डेटा ट्रांसफर करते हुए अरेस्ट हुआ रिसर्चर, कई अन्य आरोप लगे
कैलिफोर्निया यू​निवर्सिटी में चीनी शोधकर्ता को एफबीआई ने अरेस्ट किया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अमेरिका के कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय (California University) में एक चीनी शोधकर्ता को गिरफ्तार (Chinese Researcher Arrested) कर लिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 29, 2020, 12:35 PM IST
  • Share this:
कैलिफोर्निया. अमेरिका के कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय (California University) में एक चीनी शोधकर्ता को गिरफ्तार (Chinese Researcher Arrested) कर लिया गया. अमेरिकी न्याय विभाग ने शुक्रवार को बताया कि इस चीनी नागरिक पर एफबीआई (FBI) जांच के दौरान एक कंप्यूटर हार्ड ड्राइव को नष्ट करने का आरोप लगाया गया है.

सॉफ्टवेयर डेटा ट्रांसफर करते वक्त एफबीआई ने किया अरेस्ट

माना जा रहा है कि यह चीनी नागरिक उस समय कोई संवेदनशील सॉफ्टवेयर डेटा ट्रांसफर करने की कोशिश कर रहा था. न्याय विभाग के एक बयान में कहा गया है कि कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के शोधकर्ता 29 वर्षीय गुआन लेई जो कैलिफ़ोर्निया के एलहैम्ब्रा के निवासी हैं, को जुलाई में अपने अपार्टमेंट के बाहर कूड़ेदान में डैमेज हार्ड ड्राइव फेंकते हुए देखा गया था.



चीना सेना के साथ संबंध पर झूठ बोलने का आरोप
न्यायिक विभाग ने कहा कि संभवत: संवेदनशील यूएस सॉफ्टवेयर या तकनीकी डाटा को चीन के नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ डिफेंस टेक्नोलॉजी में ट्रांसफर करने के लिए और फेडरल एजेंट्स के साथ हुए इंटरव्यू में अपने वीजा एप्लीकेशन पर चीनी सेना के साथ उसके जुड़ाव पर झूठ बोलने के लिए उससे सवाल जवाब किये जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: स्वीडन में दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं ने धार्मिक ग्रंथ  जलाया, भड़का दंगा 

सिंगापुर जेल में पुलिस ने पूर्व ब्रिटिश छात्र को नंगा करके पीटा, बैठना भी हुआ मुश्किल

रिपब्लिकन के सम्मेलन में मे​लानिया ने सौतेली बेटी इवांका को दिए ऐसे लुक, VIDEO VIRAL

अमेरिका में मिला युवक के कोरोना वायरस से दोबारा संक्रमित होने का पहला केस, ज्यादा गंभीर

अफगानिस्तान की पहली महिला फिल्म डायरेक्टर को बदमाशों ने गोलियों से भूना

बाइडेन देश को पतन की ओर ले जाएंगे इसलिए ट्रंप को बनाएं राष्ट्रपति: माइक पेंस 

इस रिपोर्ट में यह नहीं बताया गया कि यह जांच कब शुरू हुई. गुआन शुक्रवार को एक अदालत में उपस्थिति हुआ और उस पर आरोप लगाने के लिए 17 सितंबर की तारीख तय की गई है. सबूत नष्ट करने के अपराध में अधिकतम 20 वर्ष की सजा काटनी पड़ती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज