अमेरिकी राष्ट्रपति पद के कैंडिडेट बर्नी सैंडर्स ने कश्मीर पर जताई चिंता, प्रतिबंधों को बताया 'अस्वीकार्य'

News18Hindi
Updated: September 1, 2019, 1:04 PM IST
अमेरिकी राष्ट्रपति पद के कैंडिडेट बर्नी सैंडर्स ने कश्मीर पर जताई चिंता, प्रतिबंधों को बताया 'अस्वीकार्य'
कश्मीर को लेकर अमेरिकी सीनेटर का बड़ा बयान.

अमेरिकी सीनेटर बर्नी सैंडर्स ने शनिवार को कहा कि अमेरिका कश्मीर मुद्दे (Kashir Issue) का शांतिपूर्ण हल निकालने के लिए संयुक्त राष्ट्र (UN) के प्रस्तावों का समर्थन करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 1, 2019, 1:04 PM IST
  • Share this:
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी के प्रबल दावेदार बर्नी सैंडर्स (Bernie Sanders) ने जम्मू-कश्मीर (Jammu- Kashmir) के मौजूदा हालात पर चिंता जताई है. उन्होंने शनिवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में भारत की कार्रवाई के बाद वहां जो स्थिति बनी है वो उन्हें "अस्वीकार्य" है. सीनेटर सैंडर्स ने शनिवार को कहा कि अमेरिका इस मुद्दे का शांतिपूर्ण हल निकालने के लिए संयुक्त राष्ट्र (UN) के प्रस्तावों का समर्थन करेगा.




आर्टिकल 370 हटाने के बाद से सरकार के द्वारा जम्मू-कश्मीर के हालात को नियत्रण में रखने के लिए संचार साधनों समेत कई दूसरी चीजों पर प्रतिबंध लगाया गया है. 77 साल के सीनेटर बर्नी सैंडर्स ने कहा कि घाटी से संचार साधनों पर लगे प्रतिबंध को तत्काल प्रभाव से हटाना चाहिए. कश्मीर में जिस तरह के हालात बने हैं, मैं उससे काफी चिंतित हूं.

सैंडर्स ने 'आईएनएसए कॉन 2019' नामक कार्यक्रम के दौरान अपने भाषण में कहा, 'भारत के कई बड़े डॉक्टरों ने माना है कि सरकार द्वारा प्रतिबंध लगाने की वजह से आम लोगों को जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं.' सैंडर्स ने कहा, 'यूएन को अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार के समर्थन में बोलना चाहिए. साथ ही संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के तहत कश्मीरी जनता की मर्जी को अहमियत देने की बात होनी चाहिए.'
Loading...

 

ये भी पढ़ें-
NRC: बाहर हुए 19 लाख लोगों के पास बचे 120 दिन, करना होगा ये

NRC: SC में याचिका दाखिल करने वाले NGO ने उठाए लिस्ट पर सवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 1, 2019, 12:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...