लाइव टीवी

ईरान का दावा- US ने साइबर अटैक कर जाम कर दिया था एयर डिफेंस सिस्टम, इसलिए हुआ यूक्रेन हादसा

News18Hindi
Updated: January 15, 2020, 11:48 AM IST
ईरान का दावा- US ने साइबर अटैक कर जाम कर दिया था एयर डिफेंस सिस्टम, इसलिए हुआ यूक्रेन हादसा
8 जनवरी का यूक्रेन का विमान तेहरान में क्रैश हो गया था.

बताया जा रहा है कि ये हमला रूस की इंटरनेट रिसर्च एजेंसी पर नवंबर 2018 में किए गए हमले जैसा ही था, जिससे उसके कई सिस्टम अस्थायी रूप से ऑफलाइन हो गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2020, 11:48 AM IST
  • Share this:
तेहरान. ईरान की राजधानी तेहरान में बीते दिनों हुए यूक्रेन के विमान हादसे में नई जानकारी सामने आ रही है. तेहरान यूनिवर्सिटी ने दावा किया है कि अमेरिका ने ईरान के रडार पर साइबर अटैक (Cyber Attack) कर उन्हें डैमेज कर दिया था, जिसके कारण ईरान के एयर डिफेंस सिस्टम ने काम करना बंद कर दिया. इसी दौरान प्लेन हादसा हो गया, जिसमें 176 लोगों की जान चली गई. ईरानी विशेषज्ञों की मानें तो ये साइबर अटैक केमिकल हमले से भी एक हजार गुना ज्यादा खतरनाक था.

इसके पहले ईरान ने स्वीकार किया था कि मिसाइल अटैक में ही यूक्रेन का विमान क्रैश हो गया था. हसन रुहानी सरकार का कहना था कि यात्री विमान बोइंग-737 संवेदनशील सैन्य क्षेत्र के पास से गुजर रहा था, जिस वजह से उसे पहचानने में गलती हुई. हालांकि, यूक्रेन ने इस दावे को सिरे से खारिज किया है. यूक्रेन ने कहा कि उनका विमान पूरी तरह से इंटरनेशनल रूट पर था.

जानकार इस साइबर हमले को ईरान से निपटने के लिए अमेरिका के उस प्लान बी की तरह मान रहे हैं, जिसकी तैयारी पिछले कई हफ्तों से की जा रही थी. माना जा रहा है कि ये पहले से तय था कि अगर अमेरिका ईरान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई नहीं कर पाया तो वो उसके सैन्य ठिकानों पर मिसाइल को ऑपरेट करने वाले कंप्यूटरों पर साइबर अटैक कर देगा.

ukrain crash
इस विमान हादसे में 176 लोगों की मौत हो गई थी.


अमेरिका ने इस प्लान बी के तहत ईरान के उस डिफेंस सिस्टम को निशाना बनाया, जिनसे ईरान की मिसाइलें नियंत्रित की जाती हैं. इसके साथ ही अमेरिका ने ईरान के इंटेलीजेंस ग्रुप को डैमेज करने की कोशिश की.


बताया जा रहा है कि ये हमला रूस की इंटरनेट रिसर्च एजेंसी पर नवंबर 2018 में किए गए हमले जैसा ही था, जिससे उसके कई सिस्टम अस्थायी रूप से ऑफलाइन हो गए थे.

ईरान ने US एयरबेस पर कब दागे थे मिसाइल?ईरान की ओर से बीते रविवार को इराक में अमेरिका के ऐन अल और असद एयरबेस पर मिसाइल से हमला किया. हालांकि, इस हमले में कोई अमेरिकी सैनिक हताहत नहीं हुआ, लेकिन चार इराकी सैनिक इसमें घायल हो गए. वहीं अब इस हमले को लेकर अमेरिकी सैनिकों का जवाब सामने आया है. अमेरिकी सैनिकों ने कहा कि इस हमले की तीव्रता ने उन्हें हैरान कर दिया और वह इससे सकुशल बचने के लिए आभारी हैं.

इराक के पश्चिम में अनबर रेगिस्तान के पास अमेरिका का यह कैंप बना हुआ था, जिसमें कि करीब 1500 अमेरिकी तैनात थे. उन्होंने कहा कि किसे पता था कि वह उन पर बैलिस्टिक मिसाइलों से हमला करेंगे और किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होगा.


अमेरिकी स्टाफ के सारजेंट टॉमी काल्डवेल ने कहा कि हमें हमले से कुछ देर पहले जानकारी मिली थी कि कुछ देर में वहां हमला हो सकता है इसलिए हमने कुछ घंटे पहले ही अपने हथियार वहां से हटा दिए थे.

ये भी पढ़ें:- ईरान के इतने बड़े हमले में कैसे बचे अमेरिकी सैनिक, पढ़ें पूरी कहानी

ईरान के राष्‍ट्रपति रूहानी ने कहा- यूक्रेन के हवाई जहाज को मार गिराने के जिम्मेदार सभी लोगों को दंडित किया जाए

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 11:48 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर