लाइव टीवी

NRC: असम में 19 लाख लोग जल्द किसी देश के नहीं रहेंगे नागरिक- रिपोर्ट

भाषा
Updated: November 20, 2019, 12:38 PM IST
NRC: असम में 19 लाख लोग जल्द किसी देश के नहीं रहेंगे नागरिक- रिपोर्ट
असम एनआरसी की फाइनल लिस्ट 31 अगस्त को जारी हुई थी.

असम एनआरसी (National Citizen Register) के धार्मिक स्वतंत्रता निहितार्थ पर एक रिपोर्ट में USCIRF ने कहा कि इस लिस्ट में 19 लाख लोगों के नाम नहीं हैं. रिपोर्ट में इस बात पर चिंता जताई गई कि किस तरह से इस पूरी प्रक्रिया का इस्तेमाल मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाने के लिए किया जा रहा है.

  • भाषा
  • Last Updated: November 20, 2019, 12:38 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिका अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता आयोग (USCIRF) ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) प्रक्रिया पर चिंता जाहिर की है. USCIRF ने मंगलवार को कहा कि असम में लंबे समय से रह रहे 19 लाख लोग जल्द ही कहीं के भी नागरिक नहीं रहेंगे. इस आयोग ने आरोप लगाया कि उनकी नागरिकता 'निष्पक्ष, पारदर्शी और सुशासित प्रक्रिया के बिना’ खत्म की जा सकती है.

एनआरसी के धार्मिक स्वतंत्रता निहितार्थ पर एक रिपोर्ट में USCIRF ने कहा कि इस लिस्ट में 19 लाख लोगों के नाम नहीं हैं. रिपोर्ट में इस बात पर चिंता जताई गई कि किस तरह से इस पूरी प्रक्रिया का इस्तेमाल मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाने के लिए किया जा रहा है.

USCIRF आयुक्त अनुरिमा भार्गव ने इस मुद्दे पर कांग्रेशनल आयोग के सामने अपनी गवाही में कहा, 'असम में लंबे समय से रह रहे करीब 20 लाख लोग जल्द ही किसी भी देश के नागरिक नहीं माने जाएंगे. उनकी नागरिकता बिना किसी पारदर्शी जांच के खत्म की जा सकती है.'

भार्गव ने कहा, 'इससे भी बुरा यह है कि भारतीय राजनीतिक अधिकारियों ने असम में मुसलमानों को अलग थलग करने और वहां से बाहर निकालने के लिए एनआरसी प्रक्रिया का इस्तेमाल करने की अपनी मंशा लगातार दोहराई है. अब भारत भर में नेता एनआरसी का दायरा बढ़ा कर सभी मुसलमानों के लिए भिन्न नागरिकता मानक लागू करने पर विचार कर रहे हैं.'

USCIRF प्रमुख टोनी पेर्किन्स ने कहा कि एनआरसी और भारत सरकार के इसके बाद के कदम मुसलमान समुदाय को निशाना बनाने के लिए एक प्रकार से ‘नागरिकता के लिए एक धार्मिक कसौटी’तैयार कर रहे हैं. उन्होंने भारत सरकार से उसके सभी धार्मिक अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा करने की अपील की, जो संविधान में दर्ज हैं.

कब जारी हुई असम एनआरसी की पहली लिस्ट
असम की नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (NRC) की फाइनल लिस्ट 31 अगस्त को जारी की गई. इस लिस्ट में 19 लाख से ज्यादा लोगों को बाहर रखा गया है. असम में एनआरसी में शामिल होने के लिए 3,30,27,661 लोगों ने आवेदन किया था. फाइनल लिस्ट से 19,06,657 लोगों को निकाल दिया गया, जबकि 3,11,21,004 लोगों को भारतीय नागरिक बताया गया था. अपना नाम देखने के लिए nrcassam.nic.in पर क्लिक कर सकते हैं या https://assam.gov.in/ लिंक पर जाकर लिस्ट में नाम देख सकते हैं.
Loading...


ये भी पढ़ें: इस शख्स की वजह से असम में लागू हुआ NRC, जानिए 10 साल पहले कैसे शुरू हुआ सफर

गृह मंत्री अमित शाह बोले- जल्द ही पूरे देश में लागू करेंगे NRC

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 11:44 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...