अमेरिका समेत कई देशों ने रूस के नेवलनी को जहर देने की जांच कराने की मांग की

अमेरिका समेत कई देशों ने रूस के नेवलनी को जहर देने की जांच कराने की मांग की
एलेक्सी नेवलनी जर्मनी में कोमा में हैं. उनके जांच की मांग तेज हो रही है.

जर्मन क्लिनिक ने प्रारंभिक चिकित्सा जांच में विष (Poisioning) देने की की ओर इशारा किया जबकि साइबेरियाई अस्पताल में नेवलनी का इलाज करने वाले रूसी डॉक्टरों ने इस बात का खंडन किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2020, 7:55 PM IST
  • Share this:
मास्को. क्रेमलिन ने बुधवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि विपक्षी राजनेता एलेक्सी नेवलनी (Alexei Navalny) की बीमारी के कारण पश्चिम के साथ रूस के संबंधों को नुकसान नहीं पहुंचेगा. साथ ही जहर देने की घटना पर जांच की बात को अस्वीकृत कर यह जानने में ज्यादा उत्सुकता दिखाई कि अलेक्सी बीमार क्यों पड़े. एलेक्सी नेवलनी जर्मनी की राजधानी बर्लिन के एक अस्पताल में कोमा (Alexei Navalny in Coma in Germany) में हैं. वे बीते शनिवार को एक फ्लाइट में गिर गए थे और उन्हें एयरलिफ्ट किया गया था. जर्मन क्लिनिक ने प्रारंभिक चिकित्सा जांच में विष (Poisioning) देने की की ओर इशारा किया जबकि साइबेरियाई अस्पताल में नेवलनी का इलाज करने वाले रूसी डॉक्टरों ने इस बात का खंडन किया है.

अमेरिका और पश्चिमी देशों ने की जांच की मांग

जर्मनी, संयुक्त राज्य अमेरिका और अन्य देशों ने रूस से उन परिस्थितियों की जांच करने का आह्वान किया है जिनके कारण नेवलनी बीमार पड़े लेकिन क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने संवाददाताओं से कहा कि अब तक का डायग्नोसिस दुविधा पैदा करने वाला है. रूस और पश्चिम के बीच संबंधों के बिगड़ने पर एक सवाल का जवाब देते हुए पेसकोव ने कहा कि पहली बात यह है कि हम निश्चित रूप से ऐसा नहीं चाहेंगे.



एलेक्सी नेवलनी की जांच की मांग बोरिस जॉनसन ने भी की
ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन ने एलेक्सी नेवलनी के साथ जो हुआ उसकी जांच करवाने की मांग की है. वहीं क्रेमलिन का कहना है कि वे नहीं चाहते कि नेवलनी की बीमारी के कारण अन्य देशों से उनके संबंधों पर कोई आंच आये. क्रेमलिन की यह टिप्पणी रुसी संसद के निचले सदन के स्पीकर के एक बयान के बाद आई है. रूस के संसद के निचले सदन के स्पीकर ने कहा है कि एक कमेटी यह देखने के लिए जाँच शुरू करेगी कि रूस में तनाव भड़काने के लिए विदेशी सेनाओं ने नवलनी की बीमारी में तो कोई भूमिका नहीं निभाई है.

चीन में आया ने 11 महीने के बच्चे को मारे कई थप्पड़, पुलिस ने भेजा जेल

पेसकोव से जब विदेशी ताकतों के बारे में संसदीय स्पीकर के सिद्धांत के बारे में प्रश्न किया गया तो उन्होंने जवाब दिया कि अगर जहर की पुष्टि हुई और पदार्थ की पहचान हो जाये तो इस बात पर विचार किया जाएगा कि इस घटना से किसको फायदा हुआ है.

ट्रंप के प्रचार अभियान में निक्की हैली ने कहा- भारतीय की बेटी हूं, मुझे इसका गर्व है 

नेवलनी के एक वरिष्ठ सहयोगी ने कहा कि उनका मानना ​​है कि अपने मुखर आलोचक नेवलनी को जहर देने में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का हाथ है. हालांकि नेवलनी के एंटी करप्शन फाउंडेशन (FBK) के निदेशक इवान झेडानोव इस बात का कोई सुबूत नहीं दे पाए हैं. क्रेमलिन ने लगातार इन दावों को खारिज करते हुए नेवलनी के बीमार होने में पुतिन के शामिल होने की बात को झूठा करार दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज