Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    US Election Results 2020: भारतीय मूल की महिला जेनिफर राजकुमार ने भी मारी बाजी

    भारतीय मूल की जेनिफर राजकुमार न्यूयॉर्क स्टेट असेंबली के लिए चुने जाने वाली पहली दक्षिण एशियाई महिला बन गई हैं.
    भारतीय मूल की जेनिफर राजकुमार न्यूयॉर्क स्टेट असेंबली के लिए चुने जाने वाली पहली दक्षिण एशियाई महिला बन गई हैं.

    US Election Results 2020: भारतीय मूल की जेनिफर राजकुमार (Jenifer Rajkumar) न्यूयॉर्क स्टेट असेंबली (New York State Assembly) के लिए चुने जाने वाली पहली दक्षिण एशियाई महिला (first South Asian woman) बन गई हैं. डेमोक्रेट जेनिफर राजकुमार ने अपने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी जियोवानी पेरना को हराया है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 4, 2020, 10:46 PM IST
    • Share this:
    वाशिंगटन. भारतीय मूल की जेनिफर राजकुमार (Jenifer Rajkumar) न्यूयॉर्क स्टेट असेंबली (New York State Assembly) के लिए चुने जाने वाली पहली दक्षिण एशियाई महिला (first South Asian woman) बन गई हैं. डेमोक्रेट जेनिफर राजकुमार ने अपने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी जियोवानी पेरना को हराया है. इंडियन अमेरिकन इम्पैक्ट फंड ने बुधवार को ट्वीट कर जेनिफर राजकुमार को जीत की बधाई देते हुए लिखा कि न्यूयॉर्क स्टेट असेंबली के लिए चुनी गई पहली दक्षिण एशियाई महिला बनने पर जेनिफर राजकुमार को बधाई. जेनिफर राजकुमार लंबे समय से एक पब्लिक सर्वेंट और वकील हैं. हम जानते हैं कि वह ऐल्बनी में दक्षिण एशियाई आवाज़ों के लिए एक मजबूत आवाज साबित होंगी.

    अप्रवासियों के अधिकारों के लिए लड़ने के लिए जानी जाती हैं

    जेनिफर राजकुमार स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से शिक्षित और आप्रवासियों के अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाली वकील हैं. वे न्यूयॉर्क स्टेट असेंबली में न्यूयॉर्क शहर का प्रतिनिधित्व करेंगी. वे 38वें असेंबली डिस्ट्रिक्ट जिसमें वुडहेन, रिडवुड, रिचमंड हिल, ओजोन पार्क और ग्लेंडेल शामिल हैं, का प्रतिनिधित्व करेंगी. न्यूयार्क राज्य विधायिका का निचला सदन न्यूयॉर्क स्टेट असेंबली है और स्टेट सीनेट ऊपरी सदन है. विधानसभा में 150 सीटें हैं. असेंबली के सदस्यों का सेवाकाल बिना टर्म लिमिट के दो साल का होता है.





    जेनिफर न्यूयॉर्क के एक विश्वविद्यालय में एक प्रोफेसर भी हैं

    राजकुमार न्यूयॉर्क के सिटी विश्वविद्यालय में एक प्रोफेसर भी हैं. वे न्यूयॉर्क राज्य सरकार की पूर्व अधिकारी भी रही हैं.उनकी वेबसाइट पर लगी उनकी प्रोफाइल के अनुसार राजकुमार ने शुरूआत से पब्लिक सर्विस में काम किया है.उनकी प्रोफाइल में कहा गया है कि न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो ने उन्हें न्यूयॉर्क राज्य के इमीग्रेशन मामलों की डायरेक्टर और स्पेशल काउंसल नियुक्त किया था. उनके माता-पिता भारत से अमेरिका गए और न्यूयार्क के पास क्वींस में जाकर बस गए थे.



    वे घरेलू हिंसा की पीड़िताओं के लिए काम करती हैं

    सैंक्चुअरी फॉर फैमिलीज़ (Sanctuary for Families) संयुक्त राज्य अमेरिका में मुफ्त कानूनी सेवाओं के सबसे बड़े प्रदाताओं में से एक है. यह प्रताड़ित महिलाओं को क़ानूनी मदद पहुँचाने वाली प्रमुख संस्था है और जेनिफर राजकुमार लीगल एडवाइजरी कौंसिल की सदस्य के रूप में कार्य करती हैं. घरेलू हिंसा, सेक्स ट्रैफिकिंग और जेंडर आधारित हिंसा से जुड़े मामलों में लोगों को क़ानूनी मदद देती हैं.

    ये भी पढ़ें: US Election Results 2020: अमेरिकी-भारतीय ने ओहायो से सीनेट का चुनाव जीता

    Turkey Earthquake: 116 लोग मरे, 107 जिंदा लोगों को मलबे से निकाला

    जेनिफर राजकुमार ने टैनफोर्ड लॉ स्कूल(Stanford Law School) क्यूनी लॉ स्कूल ( CUNY Law School) और हार्वर्ड लॉ स्कूल (Harvard Law School) जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों में जनहित कानूनों और नीतियों पर वक्तव्य दिए हैं. 2015 और 2016 में राजकुमार को सुपर वकीलों की न्यूयॉर्क-मेट्रो राइजिंग स्टार्स सूची में चुना गया था. यह मान्यता न्यूयॉर्क के 2.5 प्रतिशत से ज्यादा वकीलों को नहीं दी गई है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज