अपना शहर चुनें

States

हार नहीं मान रहे ट्रंप ने शुरू की 2024 की भी तैयारी, पार्टी के वोटर्स और डोनर के डेटा पर नज़र

2024 की भी तैयारी में जुटे ट्रंप.
2024 की भी तैयारी में जुटे ट्रंप.

US Election Result: पेनसेल्वेनिया के बाद जॉर्जिया में भी झटका मिलने के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अब 2024 के लिए अपनी रिपब्लिकन उम्मीदवारी पर फोकर करना शुरू कर दिया है. ट्रंप की नज़र वोटर्स और डोनर से जुड़े डेटा पर है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 23, 2020, 2:07 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. पेनसेल्वेनिया, जॉर्जिया, आरिजोना में अदालत से झटके खाने के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अब 2024 के लिए रिपब्लिकन उम्मीदवारी की तैयारियां शुरू कर दी हैं. हार स्वीकार करने से इनकार कर रहे ट्रंप पार्टी पर भी पकड़ ढीली नहीं करना चाहते और अपनी करीबी नेता रोन्ना मैक्डेनियल को ही रिपब्लिकन पार्टी की नेशनल कमेटी की प्रमुख बनाए रखना चाहते हैं.

NYT की एक रिपोर्ट के मुताबिक मैक्डेनियल ने कहा है कि वे फिर से कमिटी की प्रमुख बनना चाहती हैं और ट्रंप गुट ने उनका समर्थन किया है. विशेषज्ञों के मुताबिक मैक्डेनियल का फिर से चयन करवाकर ट्रंप 2024 राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपनी दावेदारी सुरक्षित करना चाहते हैं. बता दें कि इस कमेटी के पास वोटरों और पार्टी को चंदा देने वालों के डेटा होते हैं. अगर मैक्डेनियल फिर से चुनी जाती हैं तो ये अहम डेटा ट्रंप की पहुंच में रहेंगे. कई रिपब्लिकन नेता ट्रंप के इस रुख के खिलाफ हैं लेकिन खुलकर विरोध नहीं कर रहे.

पेन्सिलवेनिया के बाद जॉर्जिया में भी झटका
डोनाल्ड ट्रंप की चुनावी हार पर अब अमेरिकी अदालतें भी मुहर लगाने लगी हैं. पेन्सिलवेनिया और जॉर्जिया की अदालतों के फैसलों ने साफ कर दिया है कि ट्रंप खेमे की तरफ से लगाए जा रहे चुनावी धांधली के आरोपों में दम नहीं है. पेन्सिलवेनिया की एक अदालत ने साफ कर दिया कि मेल इन बैलट्स रद्द नहीं किए जाएंगे. जॉर्जिया में कोर्ट ने उस अपील को ठुकरा दिया जिसमें दूसरी बार री-काउंट की अपील की गई थी. ट्रंप की वरिष्ठ कानूनी सलाहकार जेना एलिस और एटॉर्नी रुडी गिउलियानी ने कहा है कि पेन्सिलवेनिया अदालत के फैसले के खिलाफ जल्द अपील करेंगे. शनिवार को अमेरिकी जिला अदालत के न्यायाधीश मैथ्यू ब्रान ने पेंसिलवेनिया में मेल इन मतपत्रों को अमान्य करने के ट्रंप कैंपेन की याचिका खारिज कर दी थी. न्यायाधीश ब्रान ने कहा कि ट्रंप कैंपेन की याचिका बिना कानूनी दलीलों तथा साक्ष्य के है. वहीं ट्रंप टीम के अनुसार पेन्सिलवेनिया में 6,82,777 मत गैर कानूनी है.
पेन्सिलवेनिया की अदालत ने कहा- ट्रंप कैम्पेन ने सिर्फ आरोप लगाए हैं. इनके समर्थन में कोई ठोस सबूत नहीं दिए. लिहाजा, उनकी अपील पर विचार करने का कोई आधार नहीं है. चुनाव प्रक्रिया सही है. पेन्सिलवेनिया में मेल इन बैलट्स को रद्द करने की मांग पर फेडरल कोर्ट के जज मैथ्यू ब्रान ने कहा- यह अदालत संविधानिक नियमों को नहीं तोड़ सकती. हम हजारों बैलट्स को कैसे रद्द कर सकते हैं. डेमोक्रेट पार्टी के कैंडिडेट और प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन को इस राज्य में 81 हजार वोटों से जीत मिली है. ट्रंप का खेमा आरोप लगा रहा है कि मेल इन बैलट्स में धांधली हुई है. जॉर्जिया में एक बार री-काउंट हो चुका है. इसके नतीजों से साफ हो गया कि इस राज्य में बाइडेन को ही जीत मिली और वोट काउंटिंग बिल्कुल सही तरीके से हुई थी. ट्रंप कैम्पेन फिर रि-काउंट की मांग कर रहा है. कोर्ट और चुनाव आयोग इसे खारिज कर चुके हैं.







बाइडन है काफी आगे, ट्रंप के विरोध में कई रिपब्लिकन नेता
सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप और उनका खेमा कानूनी पैंतरों के जरिए अब सिर्फ खीज निकाल रहे हैं. क्योंकि, इसमें अब कोई शक नहीं रह गया है कि ट्रंप चुनाव हार चुके हैं और बाइडेन 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे. रिपोर्ट के मुताबिक, बाइडेन को ट्रम्प से 6 लाख पॉपुलर वोट्स ज्यादा मिले हैं. रविवार को पेन्सिलवेनिया से सीनेटर पैट टूमी ने कहा- राष्ट्रपति अपने सभी कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल कर चुके हैं. अब बिल्कुल साफ हो चुका है कि वे चुनाव हार चुके हैं. 2020 का चुनाव जो बाइडेन के नाम है और मैं उन्हें दिल से जीत की बधाई देता हूं. ट्रंप के लिए भी यही सही होगा कि वे मर्यादा का सम्मान करें. हार मानें क्योंकि यह जनता का फैसला है. देश हित में यह जरूरी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज