दावा! ट्रंप की जिद से दामाद कुशनर भी खुश नहीं, हार स्वीकार करने के लिए मना रहा परिवार

ट्रंप के दामाद, बेटी और पत्नी भी चाहते हैं कि वे अब हार मान लें.
ट्रंप के दामाद, बेटी और पत्नी भी चाहते हैं कि वे अब हार मान लें.

US Election Result: ट्रंप के दामाद जेरेड कुशनर (Jared Kushner), पत्नी मेलानिया (Melania Trump) और बेटी इवांका ट्रंप (Ivanka Trump) भी चाहते हैं कि अब वे हार को स्वीकार कर लें और व्हाइट हाउस खाली कर दें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2020, 7:26 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के दामाद और उनके वरिष्ठ सलाहकार जेरेड कुशनर (Jared Kushner), पत्नी मेलानिया (Melania Trump) और बेटी इवांका ट्रंप (Ivanka Trump) भी उनकी व्हाइट हाउस न छोड़ने की जिद से खुश नहीं हैं. CNN की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि रविवार को कुशनर ट्रंप को मनाने के लिए व्हाइट हाउस गए थे लेकिन फिलहाल उन्हें कोई सफलता हाथ नहीं लगी है. इस रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप कुशनर की बातों को अनसुना कर गोल्फ खेलने चले गए.

कुशनर ने ट्रंप से चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता जो बाइडन से करीबी मुकाबले में मिली हार को स्वीकार करने के सिलसिले में ट्रंप से बातचीत की है. उधर अमेरिका में चुनाव परिणाम आने के एक दिन बाद नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन रविवार की प्रार्थना के लिए गिरजाघर गए जबकि निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप वजीर्निया में स्थित गोल्फ कोर्स पहुंचे. बाइडन डेलावेयर में न्यू कैसल काउंटी में ऐतिहासिक रोमन कैथोलिक चर्च सेंट जोसफ गए. उनके साथ उनकी बेटी एश्ले बाइडन भी थीं. जबकि ट्रंप रविवार सुबह वाशिंगटन से वर्जीनिया में स्थित गोल्फ कोर्स पहुंचे. गोल्फ कोर्स के इर्द गिर्द कई लोग खड़े थे जिनके हाथों में तख्तियां थीं. इनमें से एक तख्ती पर लिखा था, 'ट्रंप्टी डंप्टी हेड एक ग्रेट फॉल.'

ट्रंप हार मानने के लिए तैयार नहीं
ट्रंप ने इससे पहले एक बयान में कहा था कि बाइेडन 'जल्दबाजी में गलत तरीके से खुद को विजेता बता रहे हैं' और चुनावी दौड़ 'अभी खत्म नहीं हुई है.' ट्रंप के उस बयान के बाद कुशनर ने उनसे मुलाकात की है. जो बाइडेन और कमला हैरिस के चुनाव अभियान के उप अभियान प्रबंधक केट बेडिंगफील्ड ने कहा कि बाइडेन और ट्रंप के बीच कोई संवाद नहीं हुआ है और न ही दोनों के प्रतिनिधियों के बीच कोई बातचीत हुयी है. सीएनएन ने दो अज्ञात सूत्रों के हवाले से कहा है कि कुशनर ने हार स्वीकार करने के बारे में ट्रंप से संपर्क किया है. एसोसिएटेड प्रेस ने भी रविवार को खबर दी कि कुशनर ने राष्ट्रपति से चुनाव नतीजों को स्वीकार करने का अनुरोध किया.
फॉक्स न्यूज ने दो सूत्रों के हवाले से कहा कि अगर ट्रंप का चुनाव अभियान बताए जा रहे नतीजे को बदलने में नाकाम रहता है तो वह हार स्वीकार कर लेंगे और सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तांतरण करेंगे. ट्रंप द्वारा हार नहीं स्वीकार करने की स्थिति में भी बाइडन को 20 जनवरी 2021 में राष्ट्रपति पद संभालने से नहीं रोका जा सकेगा. बाइडन के अभियान के वरिष्ठ सलाहकार सिमोन सैंडर्स ने संवाददाताओं से कहा कि डोनाल्ड ट्रंप को चुनाव के विजेता का फैसला करने का अधिकार नहीं है. वॉइस ऑफ अमेरिका ने सैंडर्स के हवाले से कहा, "लोग फैसला करते हैं, देश के मतदाता फैसला करते हैं... मतदाताओं ने अपनी पसंद बहुत स्पष्ट कर दी है.' ट्रंप ने एक बयान में कहा था, 'जब तक अमेरिकी जनता के वोटों की ईमानदारी से गिनती नहीं हो जाती, तब तक मैं हार नहीं मानूंगा. वे इसके हकदार हैं और यह लोकतंत्र का तकाजा है.' उन्होंने कहा था कि वह सोमवार से कानूनी लड़ाई भी शुरू करेंगे.



ट्रंप ने चुनावी प्रक्रिया पर फिर उठाए सवाल
ट्रंप ने चुनाव में धोखाधड़ी के अपने आरोपों को रविवार को फिर दोहराया. उन्होंने बिना किसी सबूत के कहा कि वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी की गई थी और चुनाव धोखे से जीता गया. ट्रंप ने महत्वपूर्ण राज्यों में मतगणना की वैधता पर बार-बार सवाल उठाए हैं. रविवार सुबह ट्रंप ने कई ट्वीट किए. इनमें उन्होंने कहा, 'हमारा मानना है कि वे लोग चोर हैं. मशीनों में गड़बड़ी की गई.



चुनाव में धोखाधड़ी हुई. ब्रिटेन के सर्वश्रेष्ठ मतदान सर्वेक्षक ने आज सुबह लिखा कि चुनाव में निश्चित ही धोखाधड़ी हुई. यह कल्पना करना भी नामुमकिन है कि बाइडेन ने इनमें से कुछ राज्यों में ओबामा को भी पीछे छोड़ दिया.' हालांकि ट्रंप ने अभी हार नहीं मानी है और उनका कहना है कि आधिकारिक रूप से प्रमाणित मतगणना की घोषणा अभी तक नहीं की गई है. दरअसल कुछ प्रमुख मीडिया संस्थानों ने रूझानों के आधार पर तीन नवंबर के चुनाव में जो बाइडन को विजेता घोषित किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज