US Election Result: ट्रंप ने जीता फ्लोरिडा, बाइडन को लगा बड़ा झटका

डोनाल्ड ट्रम्प के आठ सहयोगियों को पहले से ही गंभीर अपराधों में दोषी मानते हुए कैद हुई है (AP)
डोनाल्ड ट्रम्प के आठ सहयोगियों को पहले से ही गंभीर अपराधों में दोषी मानते हुए कैद हुई है (AP)

US Election Result: अमेरिका के राष्ट्रपति चुनावों के लिए मतगणना जारी है. शुरुआत में पिछड़ने के बाद अब डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने भी फ्लोरिडा जीतकर जो बाइडन (Joe Biden) को झटका दे दिया है. हालांकि आरिजोना से ट्रंप के लिए भी बुरी खबर आ सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2020, 10:51 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने फ्लोरिडा (Florida) की अहम लड़ाई जीत ली है. CNN के मुताबिक डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडन (Joe Biden) के लिए ये बड़ा झटका है. ट्रंप को इस जीत से 29 इलेक्टोरल वोट हासिल हुए हैं. साल 2016 में भी ट्रंप ने यहां जीत हासिल की थी. उधर बाइडन मतगणना के बीच डेलवेयर में जनता के सामने आए और कहा कि हम सही रास्ते पर हैं और जल्दी ही जीत का ऐलान कर दिया जाएगा. बाइडन के मुताबिक डेमोक्रेट ने पेनसेल्वेनिया भी जीत लिया है.

अमेरिकी चुनावों में फ्लोरिडा का महत्व हमेशा से बरकरार रहा है. गौरतलब है कि साल 1964 से फ्लोरिडा के मूड से पूरे अमेरिका के नतीजे का पता चलता रहा है, सिर्फ 1992 में ऐसा हुआ था कि फ्लोरिडा अपना कमाल नहीं दिखा पाया था. साल 2016 में ट्रंप ने ये राज्य 1% मार्जिन से जीता था, इलेक्टोरल वोट्स के लिहाज से यह तीसरा बड़ा राज्य है. अगर ट्रंप फ्लोरिडा हार जाते हैं तो उनके जीतने की संभावना महज 1% रह जाएगी, फ्लोरिडा जीते तो लड़ाई में बने रहेंगे. एजेंसी-538 की रिसर्च के मुताबिक, अगर फ्लोरिडा में बाइडेन जीते तो ट्रंप के जीतने की संभावना 11% से 1% रह जाएगी.

इन छह राज्यों पर है नज़र
दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश अमेरिका का राष्ट्रपति चुनाव अप्रत्यक्ष तरीक़े से होता है. इसका यही मतलब है कि कुछ इलाक़ों या वोटरों की अहमियत दूसरे इलाक़ों या वोटरों से ज़्यादा साबित होती है. इस बार के चुनाव में व्हाइट हाउस में जीत कर वही उम्मीदवार पहुंचेगा या फिर वहां वही बरक़रार रह पाएगा, जिसे 538 में से कम से कम 270 इलेक्टोरल कॉलेज के वोट मिलेंगे. अमेरिका में आबादी के हिसाब से हर प्रांत के वोट निर्धारित होते हैं. जो भी उम्मीदवार उस इलाक़े का सबसे ज़्यादा पॉपुलर वोट हासिल कर लेता है, अमूमन वही सारे इलेक्टोरल वोट ले जाता है. इन राज्यों को 'पेंडुलम स्टेट' या 'हिंज' कहा जाता है. इस बार के चुनाव में इनकी संख्या दस से भी ज़्यादा है. बीबीसी के मुताबक इस बार ये राज्य हैं- नॉर्थ कैरोलाइना, फ्लोरिडा, पेंसिल्वेनिया, मिशिगन, विस्कॉन्सिन और एरिज़ोना.





ट्रंप का प्रदर्शन अनुमान से बेहतर
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जैसे-जैसे वोटों की गिनती जारी है वैसे-वैसे प्रमुख राज्यों में दोनों प्रतिद्वंद्वियों के बीच अप्रत्याशित रूप से कांटे की टक्कर जारी है. जीत के लिए सबसे ज़रूरी फ़्लोरिडा राज्य में ट्रंप ने डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडन को हरा दिया है. वहीं, एरिज़ोना में जो बाइडन आगे हैं जिसे कंज़रवेटिव राज्य माना जाता रहा है. इसके अलावा दोनों उम्मीदवारों की नॉर्थ कैरोलाइना में कड़ी टक्कर है. जानकारों के मुताबिक ट्रंप का प्रदर्शन अभी तक अनुमान से कहीं बेहतर है. एरिज़ोना डेमोक्रेट्स के पास जा सकता है लेकिन जो बाइडन के व्हाइट हाउस में पहुंचने के लिए मध्य-पश्चिम राज्यों के परिणामों पर काफ़ी कुछ निर्भर करेगा. कई अमरीकियों ने पोस्ट बैलट से मतदान किया है जिसके कारण कई राज्यों को परिणाम घोषित करने में कई दिन लगेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज