ईरान ने दी बदले की धमकी, US दूतावास ने कहा- तुरंत इराक छोड़ें नागरिक

इसमें कासिम सुलेमानी को 1979 की इस्लामिक क्रांति की सालगिरह पर तेहरान में एक रैली में देखा जा सकता है (फरवरी, 2016 की फाइल फोटो, AP)

अमेरिकी दूतावास (American Embassy) ने अपने एक बयान में कहा, 'अमेरिकी नागरिकों (American Citizens) को जैसे ही संभव हो हवाई मार्ग (Airline) से लौट आना चाहिए. और अगर इसमें वे नाकाम रहते हैं तो उन्हें दूसरे देशों में जाकर सड़क मार्ग से लौट आना चाहिए.'

  • Share this:
    बगदाद. शुक्रवार को बगदाद (Baghdad) स्थित अमेरिकी दूतावास (US embassy) ने इराक में रह रहे अमेरिकी नागरिकों (American Citizens) से 'फौरन वापस लौटने' का अनुरोध किया है. ऐसा बगदाद में इस्लामिक रिपब्लिक की कुद्स सेना के प्रमुख ईरानी कमांडर (Iranian Commander) जनरल कासिम सुलेमानी की अमेरिकी हमले में मौत के बाद होने वाले परिणामों के डर को देखते हुए कहा गया है.

    दूतावास ने अपने एक बयान में कहा, 'अमेरिकी नागरिकों को जैसे ही संभव हो हवाई मार्ग (Airline) से लौट आना चाहिए. और अगर इसमें वे नाकाम रहते हैं तो उन्हें दूसरे देशों में जाकर सड़क मार्ग से लौट आना चाहिए.' अमेरिकी हमला शुक्रवार को बगदाद एयरपोर्ट (Baghdad Airport) के बाहर किया गया था हालांकि सुरक्षा सूत्रों ने समाचार एजेंसी AFP को बताया कि एयरपोर्ट फिर भी फ्लाइट्स के लिए खुला हुआ है.

    ईरान के कहा है कि अपने प्रमुख कमांडर की मौत का लेगा घातक बदला
    बता दें अमेरिका (America) ने ईरान (Iran) के मेजर जनरल कासिम सुलेमानी (Qassim Soleimani) को हवाई हमले में मार गिराया है. बगदाद एयरपोर्ट पर हुए अमेरिकी हवाई हमले में इराकी मिलिशिया कमांडर अबुर महादी अल-मुहानदिस की भी मौत हो गई है. अमेरिका ने शुक्रवार सुबह बगदाद एयरपोर्ट पर हवाई हमले को अंजाम दिया. इसके बाद ईराक ने अपने प्रमुख कमांडर की मौत का घातक बदला लेने की बात कही है.

    ईरान के साथ ही सीरिया और इराक में भी खासे लोकप्रिय थे सुलेमानी
    कासिम सुलेमानी ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के विदेशी आर्मी के प्रमुख थे. सीरिया और इराक की जंग में इनकी अहम भूमिका थी. ईरान के साथ वो सीरिया (Syria) और इराक में भी खासे लोकप्रिय थे.

    कासिम सुलेमानी की खाड़ी के देशों में ईरान का असरदार नजरिया रखने और उन देशों को ईरान से प्रभावित करने में बड़ी भूमिका थी. इस वजह से वो अमेरिका, इजरायल, सऊदी अरब (Saudi Arab) और तेहरान के स्थानीय दुश्मनों के निशाने पर थे. अमेरिका लगातार इनपर नजर बनाए हुए था.

    सुलेमानी ने किया था इराक की सरकार बनवाने में अपनी प्रत्यक्ष भूमिका का दावा
    कासिम सुलेमानी 2018 में उस वक्त सुर्खियों में आ गए थे, जब उन्होंने ऐलान किया था कि इराक (Iraq) की सरकार बनवाने में उनकी प्रत्यक्ष भूमिका है. सुलेमानी बगदाद आते-जाते रहते थे, पिछले महीने भी वो यहां आये थे, जब यहां सरकार बनाने की दिशा में पार्टियां लगी हुई थीं.

    पिछले दिनों कासिम सुलेमानी इरान में एक सेलिब्रिटी की तरह पॉपुलर हो चुके थे. इंस्टाग्राम (Instagram) पर उनकी बड़ी फैन फॉलोइंग थी. उनके फैंस तब से बढ़ने शुरू हो गए, जब उसने 2013 में सीरिया के संघर्ष में ईरान की भूमिका स्वीकार की और सीरिया में संघर्ष की तस्वीरें और डॉक्यूमेंट्री इंस्टाग्राम पर पोस्ट करनी शुरू कर दी. कासिम सुलेमानी को म्यूजिक वीडियो और एनिमेटेड फिल्मों में भी दिखाया गया.

    यह भी पढ़ें: कौन था वो ईरान का जनरल कासिम सुलेमानी, जिसे ट्रंप ने मरवा डाला

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.