होम /न्यूज /दुनिया /कानूनी उलझन में फंसे पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप, आरोप- कर्ज लेने-टैक्स कम चुकाने के लिए की धोखाधड़ी

कानूनी उलझन में फंसे पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप, आरोप- कर्ज लेने-टैक्स कम चुकाने के लिए की धोखाधड़ी

Washington News: पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनके परिवार पर धोखाधड़ी के आरोप लगे हैं. (News18)

Washington News: पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनके परिवार पर धोखाधड़ी के आरोप लगे हैं. (News18)

US Politics: पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति कानूनी रूप से उलझ गए हैं. आरोप है कि पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, उनके बेटे डो ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

वॉशिंगटन. पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मुश्किलों में फंस गए हैं. उन पर, उनके तीन बच्चों पर और उनकी पारिवारिक कंपनी द ट्रंप ऑर्गेनाइजेशन पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है. जांच के बाद उन पर आरोप है कि उन्होंने कर्ज लेने और कम कर चुकाने के लिए अपनी अचल संपत्ति के बारे में गलत जानकारी दी. अभियोजकों का कहना है कि ट्रंप ऑर्गेनाइजेशन ने 2011-21 के बीच कई बार धोखाधड़ी की है. हालांकि, ट्रंप ने इस मुकदमे को बदले की कार्रवाई करार देकर खारिज कर दिया.

गौरतलब है कि इस मामले में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड के साथ-साथ उनके बेटे डोनाल्ड जूनियर, इवांका, एरिक ट्रंप, उनके दो अधिकारियों एलन वीसेलबर्ग और जेफरी मैककोनी को प्रतिवादी बनाया गया है. यह मुकदमा तीन साल पुराना है. इसे वरिष्ठ वकील और न्यूयॉर्क की अटॉर्नी जनरल लेटिटिया जेम्स ने दर्ज किया है. एक बयान में जेम्स ने कहा कि ट्रंप ऑर्गेनाइजेशन के वरिष्ठ अधिकारियों और ट्रंप के बच्चों ने डोनाल्ड ट्रंप के साथ मिलकर खुद को समृद्ध साबित किया और सिस्टम को धोखा दिया. उन्होंने अपनी संपत्ति को गलत तरीके से अरबों रुपये बढ़ाकर बताया. उन्होंने कहा कि ट्रंप ने ट्रंप टावर में अपने अपार्टमेंट की कीमत 327 मिलियन डॉलर बताई थी, जबकि न्यूयॉर्क शहर में कभी कोई अपार्टमेंट इस कीमत पर बिका ही नहीं.

क्या है मुकदमे में
222 पेज के इस दस्तावेज में ट्रंप और उनके संगठन पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने और उनके बच्चों ने होटल, गोल्फ कोर्स, और दूसरी संपत्ति को लेकर झूठ बोला. ताकि, ज्यादा कर्ज ले सकें और कर भी कम चुकाना पड़े. एक दशक के काल में ट्रंप और उनके परिवार ने करीब 200 बार झूठे या भटकाने वाले बयान दिए. कुछ संपत्तियों के विकास की लागत और कुछ एस्टेट को बढ़ा-चढ़ाकर बताया गया, ताकि ज्यादा से ज्यादा कर छूट का लाभ मिल सके. हर बयान को डोनाल्ड ट्रंप, उनके बेटे डोनाल्ड जूनियर या ट्रंप ऑर्गेनाइजेशन के पूर्व आर्थिक विशेषज्ञ एलेन वेस्सलबर्ग ने निजी तौर पर प्रमाणित किया. इस योजना से ट्रंप परिवार को करीब 250 मिलियन डॉलर का लाभ हुआ, जिसे सरकार वसूल करना चाहती है.

वकील ने कही ये बात
न्यूयॉर्क की अटॉर्नी जनरल लेटिटिया जेम्स ने कहा कि जब साधन संपन्न लोग इस तरह कानून का उल्लघंन करते हैं तो इससे सामान्य लोगों, छोटे व्यापारियों और सभी करदाताओं के लिए संसाधन कम हो जाते हैं. जेम्स ने अदालत से मांग की है कि पूर्व राष्ट्रपति और उनके बच्चों को न्यूयॉर्क में किसी भी व्यवसाय में निदेशक या अधिकारी के तौर पर सेवा देने से रोका जाए. उनका यह भी कहना है कि ट्रंप ऑर्गेनाइजेशन को रियल एस्टेट कारोबार में लेन-देन के लिए पांच साल के लिए प्रतिबंधित किया जाए.

Tags: Donald Trump, New Delhi news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें