लाइव टीवी

डोनाल्‍ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के ड्राफ्ट को अमेरिकी सांसदों की मंजूरी

भाषा
Updated: December 13, 2019, 11:04 PM IST
डोनाल्‍ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के ड्राफ्ट को अमेरिकी सांसदों की मंजूरी
अमेरिका में संसदीय समिति ने ट्रंप के खिलाफ आरोपों को मंजूरी दी

राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (President Donald Trump) के खिलाफ अमेरिकी सांसदों (US House Panel) ने दो आरोपों को मंजूरी दे दी है. अब उनके खिलाफ महाभियोग (Impeachment) प्रक्रिया आगे बढ़ेगी.

  • भाषा
  • Last Updated: December 13, 2019, 11:04 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी सांसदों (US House Panel) ने शुक्रवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (President Donald Trump) के खिलाफ दो आरोपों को मंजूरी दे दी. इस तरह कथित कदाचार के लिए प्रतिनिधि सभा में राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग (Impeachment) की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी.

सदन की न्यायिक समिति में डेमोक्रैट्स और रिपब्लिकन सांसदों ने 17 के मुकाबले 23 वोटों से मतदान किया. इस तरह अमेरिका के इतिहास में ट्रंप ऐसे तीसरे राष्ट्रपति बन जाएंगे, जिनके खिलाफ महाभियोग की कार्रवाई आगे बढ़ेगी.



इससे पहले सदन की न्यायिक समिति की गुरुवार रात चल रही सुनवाई अचानक रोकते हुए अध्यक्ष जेरी नाडलर ने महाभियोग के दो अनुच्छेदों पर अंतिम मतदान टाल दिए. उन्होंने कहा कि वह अमेरिकी नेता के खिलाफ पेश किए गए सबूतों पर अपनी 'जमीर टटोलने' के लिए समिति के सदस्यों को वक्त देना चाहते हैं. इस बात से आश्चर्यचकित रिपब्लिकन ने नाडलर पर आरोप लगाया कि वह 'कंगारु अदालत' चला रहे हैं, लेकिन डेमोक्रेट जेमी रस्किन ने कहा कि वे इतनी रात को राष्ट्रपति के खिलाफ कार्रवाई करने के आरोपी नहीं बनना चाहते हैं. उन्होंने बहस के बाद सीएनएन से कहा, 'हम इसे दिन में करना चाहते थे ताकि सभी देख सकें कि आखिर हो क्या रहा है.' इस मुद्दे पर 14 घंटे लंबी बहस चली जिसका सीधा प्रसारण किया गया था.ट्रंप पर ये है आरोप
डोनाल्‍ड ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Election) में संभावित प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन समेत अपने प्रतिद्वंद्वियों की छवि खराब करने के लिए यूक्रेन से गैरकानूनी रूप से मदद मांगी. इस संबंध में डेमोक्रेट्स ने मंगलवार को उन पर महाभियोग की दो धाराओं के तहत आरोप लगाए थे.

कांग्रेस की न्यायिक समिति ने इन दोनों धाराओं पर बुधवार और गुरुवार को सार्वजनिक चर्चा की. ट्रम्प की यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदमीर ज़ेलेन्स्की के साथ जुलाई में फोन पर हुई बातचीत के संबंध में सितम्बर में एक अनाम व्हिसलब्लोअर के शिकायत करने के बाद महाभियोग की प्रक्रिया शुरू की गई थी.

हाउस ज्यूडिशियरी कमेटी के अध्यक्ष ने लगाया था आरोप
'हाउस ज्यूडिशियरी कमेटी' के अध्यक्ष जेरी नाडलर ने आरोप लगाया था कि ट्रम्प अपने फायदे के लिए 2020 चुनाव को कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं. इस बीच, राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा कि डेमोक्रेट की महाभियोग की धाराएं बेहद कमजोर हैं और साथ ही अपने कुछ गलत ना करने की बात भी उन्होंने दोहराई.

ट्रंप ने कहा था, 'रिपब्लिकन एकसाथ हैं'
इससे पहले ट्रंप ने व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा था, 'रिपब्लिकन एकसाथ हैं, यह एक साजिश है. यह एक घिनौनी चीज है, डेमोक्रेट्स भी कुछ खास खोज नहीं पाये हैं क्योंकि उन्होंने दो धाराएं रखी हैं, जो सच कहूं तो बेहद कमजोर है. वे काफी कमजोर हैं.'

ये भी पढ़ें: ट्रंप का ग्रेटा पर तंज,कहा-गुस्सा काबू करो, पुरानी फिल्में देखो, हो गए ट्रोल

ये भी पढ़ें: अमेरिका ने ईरान पर लगाए नये प्रतिबंध, अपनाई 'अधिकतम दबाव' नीति

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 9:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर