ट्रंप को ईरान के साथ युद्ध से रोकने के लिए अमेरिकी सदन में होगा मतदान

ट्रंप को ईरान के साथ युद्ध से रोकने के लिए अमेरिकी सदन में होगा मतदान
अमेरिका की प्रतिनिधिसभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी

पेलोसी ने कहा कि डेमोक्रेट अब इस मामले में आगे बढ़ेंगे क्योंकि बुधवार को विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के साथ हुई बातचीत में उनकी चिंताओं का समाधान नहीं निकाला गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 9, 2020, 10:49 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (America) और ईरान (Iran) के बीच बढ़े तनाव को देखते हुए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को ईरान के साथ युद्ध से रोकने के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी नीत अमेरिका की प्रतिनिधिसभा में गुरुवार को मतदान होगा. इस बात की जानकारी अमेरिका की प्रतिनिधिसभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने दी. ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया.

पेलोसी ने कहा कि डेमोक्रेट अब इस मामले में आगे बढ़ेंगे क्योंकि बुधवार को विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के साथ हुई बातचीत में उनकी चिंताओं का समाधान नहीं निकाला गया.

इससे पहले डोनाल्ड ट्रंप ने ईरानी नेताओं को संदेश देते हुए कहा था कि हम हमले के बजाय शांति चाहते हैं, जो भी देश शांति चाहता है उसके साथ हम शांति बनाए रखेंगे.



अमेरिका के ड्रोन हमले में मारे गए कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी का बदला लेने के लिए बुधवार सुबह साढ़े 5 बजे ईरान ने इराक में मौजूद अमेरिकी एयरबेस पर 22 मिसाइलें दागी थी. ईरान ने दावा किया था कि इस हमले में 80 अमेरिकी सैनिकों की मौत हुई है. हालांकि, अमेरिका ने ईरान के इस दावे को खारिज कर दिया है.
उधर संयुक्त राष्ट्र में ईरान के राजदूत माजिद तख्त रवांची ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस को लिखे गए पत्र में कहा कि उनका देश 'इराक की स्वतंत्रता, संप्रभुता, एकता और क्षेत्रीय अखंडता का पूरा सम्मान करता है.'

ये भी पढ़ें : ईरान ने अपने मुल्क से बोला था झूठ? अमेरिकी एयरबेस से दूर गिराई मिसाइल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज