अमेरिका ने किया चीन के CCP अधिकारियों को वीजा देने से इनकार

अमेरिका ने किया चीन के CCP अधिकारियों को वीजा देने से इनकार
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (फाइल फोटो)

कोरोना वायरस (Coronavirus) महमारी के प्रकोप के बाद से अमेरिका-चीन संबंध खराब हो गए हैं. इस महामारी की शुरुआत चीन से हुई थी और अमेरिका इससे बुरी तरह से प्रभावित है.

  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका ने शुक्रवार को चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (CCP) के अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने की घोषणा की. अमेरिका ने इन अधिकारियों पर हांगकांग की स्वायत्तता, मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रता को कमतर करने लगाया है. विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (Mike Pompeo) ने इस कदम की घोषणा करते हुए कहा कि वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश को लागू कर रहे हैं. पोम्पिओ ने कहा, 'आज मैं सीसीपी के मौजूदा और पूर्व अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंधों की घोषणा करता हूं.

इनके बारे में माना गया है कि इन्होंने 1984 चीन-ब्रिटेन संयुक्त घोषणा पत्र में गारंटी प्रदान की गयी हांगकांग की उच्च स्तर की स्वायत्तता को दबाया या मानवाधिकारों और बुनियादी स्वतंत्रता को कमतर किया या ऐसा करने में इनकी मिलीभगत है.'

ये भी पढ़ें: अमेरिका का भारत को इनकार, कहा- नहीं सौंपेगा मुंबई हमले के दोषी हेडली को



'चीन अपने पड़ोसियों के साथ धूर्त रवैया अपना रहा है'
उन्होंने कहा कि इन अधिकारियों के परिवार के सदस्य भी इसी तरह के प्रतिबंध का सामना कर सकते हैं. कोरोना वायरस महमारी के प्रकोप के बाद से अमेरिका-चीन संबंध खराब हो गए हैं. इस महामारी की शुरुआत चीन से हुई थी और अमेरिका इससे बुरी तरह से प्रभावित है. बता दें कि इससे पहले अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा था कि चीन अपने पड़ोसियों के साथ धूर्त रवैया अपना रहा है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने डेनमार्क के कोपेनहेगन में आयोजित लोकतंत्र पर आयोजित एक ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस में कहा था कि पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी (चीनी सेना) ने दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत के साथ सीमा पर तनाव पैदा कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading