लाइव टीवी

अमेरिकी सांसदों का अघोषित डॉलर के साथ गिरफ्तार अमेरिकी की रिहाई का भारत से अनुरोध

भाषा
Updated: March 17, 2020, 6:33 PM IST
अमेरिकी सांसदों का अघोषित डॉलर के साथ गिरफ्तार अमेरिकी की रिहाई का भारत से अनुरोध
सांसदों ने भारत से चार सांसदों के एक समूह ने विदेश सचिव हर्ष वर्धन श्रृंगला से अनुरोध किया है कि वह अघोषित मुद्रा के साथ यात्रा करने के आरोप में गिरफ्तार धर्मगुरू ब्रायन नेरन की रिहाई सुनिश्चित करें.

अमेरिकी सांसदों ने कहा कि उन्हें 11 अक्टूबर को जमानत पर रिहा किया गया था. अदालत में सुनवाई सुनिश्चित करने के लिए उनका पासपोर्ट जब्त कर लिया गया था.

  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (America) के चार सांसदों के एक समूह ने विदेश सचिव हर्ष वर्धन श्रृंगला (Harsh Vardhan Shringla) से अनुरोध किया है कि वह भारत (Bharat) में पिछले साल 40 हजार अमेरिकी डॉलर की अघोषित मुद्रा के साथ यात्रा करने के आरोप में गिरफ्तार टेनिसी के धर्मगुरू ब्रायन नेरन की रिहाई सुनिश्चित करें.

श्रृंगला को लिखे एक पत्र में सीनेटर जेम्स लैंकफोर्ड और मार्शा ब्लैकबर्न और सांसद स्कॉट डेसजारलायस, जोडी हाइस ने कहा कि नेरन को अक्टूबर 2019 में पश्चिम बंगाल के बागडोगरा से गिरफ्तार किया गया था और उन पर 40 हजार अमेरिकी डॉलर की अघोषित मुद्रा के साथ सफर करने पर विदेशी विनिमय प्रबंधन अधिनियम के उल्लंघन का आरोप लगाया गया था. अमेरिकी सांसदों ने कहा कि उन्हें 11 अक्टूबर को जमानत पर रिहा किया गया था. अदालत में सुनवाई सुनिश्चित करने के लिए उनका पासपोर्ट जब्त कर लिया गया था.

सांसदों ने कहा कि नेरन अदालत की हर सुनवाई के दौरान मौजूद रहे थे. अमेरिकी सांसदों ने पत्र में लिखा, हम आपका ध्यान टेनेसी के शेल्बीविले के ब्रायन केविन नेरन सीनियर के मामले की तरफ आकृष्ट करना चाहते हैं. हम नेरन परिवार के स्वास्थ्य को लेकर फौरी तौर पर चिंतित हैं, खास तौर पर उनकी दिव्यांग बेटी को लेकर, जो निमोनिया की वजह से अस्पताल में भर्ती है और नेरन भारत में हैं. उनके लौटने का कोई स्पष्ट वक्त भी नहीं है. उन्होंने कहा कि हम भारत से अनुरोध करते हैं कि वह उनकी सजा कम कर नेरन के अपने परिवार के पास वापस लौटने का मार्ग प्रशस्त करे.



ये भी पढ़ें - न्यूयॉर्क सबवे मरम्मत के सिलसिले में भारतीय मूल के व्यक्ति ने गुनाह कबूला



                 भारत पाक परमाणु युद्ध से भयावह खाद्यान्न संकट हो सकता है पैदा : अध्ययन

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 17, 2020, 6:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading