US: मलाला युसुफजई स्कॉलरशिप एक्ट पारित, पाकिस्तानी छात्राओं को पढ़ने में मिलेगी मदद

अमेरिकी संसद ने मलाला युसुफजई स्कॉलरशिप एक्ट पारित कर दिया है.

अमेरिकी संसद ने मलाला युसुफजई स्कॉलरशिप एक्ट पारित कर दिया है.

The Malala Yousafzai Scholarship Act Passed In US Senate: अमेरिका की संसद में मलाला युसुफजई स्‍कॉलरशिप एक्‍ट (Malala Yousafzai) को पारित कर दिया गया है. इस अधिनियम के तहत छात्रवृत्‍ति (Scholarship) की संख्‍या बढ़ाई जाएगी. पाकिस्‍तानी महिलाओं को उच्च शिक्षा हासिल करने में इससे मदद मिलेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 4:22 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका की संसद में मलाला युसुफजई स्‍कॉलरशिप एक्‍ट (The Malala Yousafzai Scholarship Act) को पारित कर दिया गया है. इस अधिनियम के तहत छात्रवृत्‍ति (Scholarship) की संख्‍या बढ़ाई जाएगी. पाकिस्‍तानी महिलाओं को उच्च शिक्षा (Higher Education For Pakistani Women) हासिल करने में इससे मदद मिलेगी. मार्च 2020 में हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्‍स द्वारा यह अधिनियम पारित किया गया था और 1 जनवरी को अमेरिकी सीनेट ने इसे ध्‍वनि मत से पारित किया. अब इस विधेयक को राष्‍ट्रपति ट्रंप के हस्‍ताक्षर के लिए व्‍हाइट हाउस भेजा गया है. इसके बाद यह कानून बन जाएगा.

इसके तहत 50 फीसदी स्कॉलरशिप दी जाएगी

इस बिल को दी यूएस एजेंन्सी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (The US Agency for International Development) की जरूरत पड़ेगी जो 2020 से 2022 तक पाकिस्तानी महिलाओं को पाकिस्तान स्थित उच्चतर शिक्षा छात्रवृत्ति कार्यक्रम के तहत कम से कम 50% छात्रवृत्ति प्रदान करेगी. इस बिल में संयुक्त राज्य अमेरिका में पाकिस्तानी निजी क्षेत्र और पाकिस्तानी प्रवासी द्वारा निवेश का लाभ उठाने के लिए दी यूएस एजेंन्सी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (USAID) के साथ परामर्श करने की जरूरत पड़ेगी. 2010 से अब तक USAID की ओर से हायर एजुकेशन के लिए पाकिस्‍तान में महिलाओं व लड़कियों के लिए 6000 से अधिक स्‍कॉलरशिप दी जा चुकी है.

वर्ष 2012 में तालिबानियों ने मलाला को मारी थी गोली
महिलाओं की शिक्षा का प्रसार करने के कारण अक्टूबर 2012 में स्कूल से घर जाते समय तालिबान आतंकियों ने मलाला को सिर में गोली मार दी थी. 10 अक्टूबर 2014 को मलाला ने "बच्चों और युवाओं के दमन के खिलाफ संघर्ष और सभी बच्चों को शिक्षा के अधिकार के लिए संघर्ष के लिए भारतीय बच्चों के अधिकारों के लिए संघर्षरत कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी के साथ नोबेल शांति पुरस्कार साझा किया.

ये भी पढ़ें: VIRAL VIDEO: दुबई के प्रिंस ने साइकिल से शुतुरमुर्ग के साथ लगाई रेस 

PHOTOS: नॉर्वे में भूस्खलन से तबाह हुआ गांव, अबतक 7 लोगों की हो चुकी है



जून 2020 में शिक्षा कार्यकर्ता और नोबल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने ब्रिटेन के प्रतिष्ठित ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (University of Oxford) से अपना ग्रेजुएशन भी पूरा किया था. मलाला स्त्री शिक्षा का प्रतीक बन चुकी हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज