होम /न्यूज /दुनिया /अमेरिका में Pfizer की वैक्सीन लगाने के बाद नर्स को हुआ कोराना, हाथों में आई सूजन

अमेरिका में Pfizer की वैक्सीन लगाने के बाद नर्स को हुआ कोराना, हाथों में आई सूजन

कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) के देशव्यापी टीकाकरण की दिशा में ड्राय रन (Dry Run) की अहम प्रक्रिया 2 जनवरी से देशभर में शुरू होगी.  (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) के देशव्यापी टीकाकरण की दिशा में ड्राय रन (Dry Run) की अहम प्रक्रिया 2 जनवरी से देशभर में शुरू होगी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Nurse Got Corona Positive after Pfizer Vaccination: अमेरिका के कैलिफोर्निया (California) में फाइजर की वैक्सीन (Pfizer C ...अधिक पढ़ें

    कैलिफोर्निया. अमेरिका के कैलिफोर्निया (California) में फाइजर की वैक्सीन (Pfizer Coronavirus Vaccine) लगाने के कुछ ही दिन बाद मैथ्यू डब्ल्यू नाम के एक नर्स के कोरोना पॉजिटिव (Nurse Got Corona Positive) होने की खबर सामने आई है. फाइजर वैक्सीन को लेकर चौंकाने वाली यह खबर वैक्सीन के प्रति लोगों की आशंकाओं को बढ़ा सकती है. मैथ्यू दो अस्पतालों में काम करता है. मैथ्यू डब्ल्यू ने 18 दिसंबर को एक फेसबुक पोस्ट में फाइजर वैक्सीन लगवाने की सूचना दी.

    वैक्सीन लगाने के बाद कोविड-19 वॉर्ड में कर रहे ​थे काम

    नर्स ने एबीसी न्यूज़ को बताया कि वैक्सीन लगवाने के एक दिन बाद उनके हाथ में सूजन आ गई थी. इसके अलावा उन्हें कोई साइड इफेक्ट नहीं हुआ. छह दिनों के बाद उनमें कोरोना के लक्षण सामने आ गए. उन्होंने बताया कि वैक्सीन लगने के छह दिनों बाद तक पर वे कोविड-19 के वार्ड में ही काम कर रहे थे. क्रिसमस की पूर्व संध्या पर उसे ठंड लगी और बाद में मांसपेशियों में दर्द और थकान लगने लगी.

    वैक्सीन ट्रायल के 10 दिनों बाद तैयार होती है इम्यूनिटी

    मैथ्यू क्रिसमस के एक दिन बाद ड्राइव-अप अस्पताल परीक्षण स्थल पर गए और टेस्ट कराया जिसमें वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए. विशेषज्ञों का कहना है कि वैक्सीन लगाए जाने के कुछ दिन बाद कोरोना पॉजिटिव होने की घटना बहुत ज्यादा हैरान करने वाली नहीं है. अमेरिका के सैन डियागो के संक्रामक रोग विशेषज्ञ क्रिस्टियन रैमर्स ने बताया कि वैक्सीन ट्रायल से यह पता चल चुका है कि वैक्सीन लेने के 10 से 14 दिनों के बाद ही व्यक्ति में इम्यूनिटी तैयार होती है. पूरी सुरक्षा के लिए दुसरा डोज़ भी जरुरी है. रैमर्स के अनुसार वैक्सीन का पहला डोज़ आपको इम्युनिटी का लगभग 50% देता है, और 95% तक पहुंचने के लिए आपको दूसरे डोज़ की भी आवश्यकता होती है."

    ये भी पढ़ें: अमेरिका: 41 वर्षीय रिपब्लिकन सांसद की कोराना से मौत, संडे को शपथ लेने वाले थे

    चीनी शोध संस्था ने लगाया आरोप, चीन ने कोरोना केस के बारे में झूठी जानकारी दी


    वैक्सीन की एडवाइजरी समूह के अनुसार फाइजर की वैक्सीन 16 साल और उससे ज्यादा के लोगों में सुरक्षित है. फाइजर कंपनी ने भी दावा किया था कि उसकी कोरोना वैक्सीन 95 फीसदी असरदार है. उधर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी टीके को जल्द से जल्द मंजूरी देने के लिए लगातार दबाव बनाये हुए थे. लोगों से यह कहा जा रहा है है कि वे यह जरूर पता कर लें उन्हें वैक्सीन के किसी तत्व से कोई एलर्जी तो नहीं है. एफडीए ने अपनी गाइडलाइन में कहा है कि स्वास्थ्य नियंत्रण किसी भी ऐसे आदमी को फाइजर-बायोएनटेक की वैक्सीन न दें जिसे कभी किसी तरह की कोई एलर्जी रही हो.

    Tags: America, Coronavirus, Pfizer vaccine

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें