US में पुलिस ने फिर ब्लैक व्यक्ति को मारी गोली, प्रदर्शन के दौरान 30 पुलिसकर्मी घायल

अमेरिका में पुलिस ने फिर एक ब्लैक व्यक्ति को गोली मारी.
अमेरिका में पुलिस ने फिर एक ब्लैक व्यक्ति को गोली मारी.

अमेरिका में एक बार फिर एक ब्लैक व्यक्ति की पुलिस की गोली से मौत के बाद प्रदर्शन शुरू हो गए हैं. र वॉलेस जूनियर (Walter Wallace Jr.) नाम के इस शख्स की उम्र महज 27 साल थी और पुलिस ने इसके हाथ इमं चाक़ू होने का आरोप लगाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 7:27 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (US) के फिलाडेल्फिया (Philadelphia) में पुलिस द्वारा एक 27 वर्षीय ब्लैक व्यक्ति के खिलाफ हिंसा का इस्तेमाल और बाद में उसे गोली मार देने का नया मामला सामने आया है. इस व्यक्ति का नाम वाल्टर वॉलेस जूनियर (Walter Wallace Jr.) है और उसकी पुलिस की गोली लगने से मौत हो गयी है. इस घटना के खिलाफ मंगलवार को बड़ी संख्या में लोगों ने प्रदर्शन किया और पथराव के दौरान 30 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल भी हो गए. उधर पुलिस का कहना है कि मै गए शख्स के हाथ में एक चाक़ू था इसलिए जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी.

CNN के मुताबिक इस घटना के बाद हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गए हैं जिसमें 30 अधिकारी जख्मी हो गए हैं और कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस की प्रवक्ता तान्या लिटिल ने बताया कि पुलिस को सोमवार को सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति हाथ में हथियार लिए हुए है. पुलिस को कोब्स क्रीक इलाके में बुलाया गया था जहां हाथ में चाकू पकड़े वॉल्टर वालेस से अधिकारियों का आमना-सामना हुआ. प्रवक्ता ने बताया कि अधिकारियों ने वालेस से चाकू फेंकने को कहा, लेकिन वह उनकी ओर बढ़ता रहा. दोनों अधिकारियों ने कई बार हवा में गोली चलाई, लेकिन मजबूरन उन्हें उसे गोली मारनी पड़ी. लिटिल ने बताया कि उसे पुलिस की गाड़ी में अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

हिंसक हुआ प्रदर्शन
'फिलाडेल्फिया इंक्वायरर' ने खबर दी है कि घटना के विरोध में सोमवार रात और मंगलवार तड़के सैकड़ों लोग सड़कों पर उतर आए. प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच बातचीत एक समय हिंसक हो गई थी. वीडियो में दिख रहा है कि कई लोग अधिकारियों पर चिल्ला रहे हैं और रो रहे हैं. पुलिस की गाडि़यों और कूड़ेदानों को आग लगा दी गई. वहीं, पुलिस भीड़ को नियंत्रित करने के लिए जूझती रही. इससे पहले अगस्‍त के महीने में लुसियाना में पुलिस ने सुविधा स्टोर में घुसने का प्रयास कर रहे एक व्यक्ति को गोली मारकर ढेर कर दिया. यह घटना कैमरे में वीडियो के रूप में कैद हो गई है. प्रांतीय एसीएलयू ने इस घटना को अश्वेत व्यक्ति के खिलाफ पुलिस की खतरनाक और दहलाने वाली हिंसा कहते हुए निंदा की है.



उल्‍लेखनीय है कि इस साल मई महीने में अमेरिका में पुलिस हिरासत में 46 वर्षीय अफ्रीकी अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की मौत हो गई थी. इसके बाद अमेरिका के साथ साथ दुनिया के कई देशों में उग्र प्रदर्शन हुए थे. अमेरिका में पुलिस के हाथों होने वाली मौतों के बारे में बीते दिनों समाचार एजेंसी रायटर ने आंकड़े जारी किए थे. आंकड़ों के मुताबिक, साल 2000 से 2018 तक पुलिस द्वारा टेजर का इस्तेमाल करने से 1,081 लोगों की मौत हुई. चौंकाने वाली बात यह है कि इन मृतकों में 32 फीसद लोग ब्लैक थे जबकि 29 फीसद गोरे लोग थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज