लाइव टीवी

डोनाल्ड ट्रंप का ऐलान- अमेरिकी सेना ने बगदादी के उत्तराधिकारी को भी किया ढेर

News18Hindi
Updated: October 30, 2019, 7:44 AM IST
डोनाल्ड ट्रंप का ऐलान- अमेरिकी सेना ने बगदादी के उत्तराधिकारी को भी किया ढेर
डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को ऐलान किया था कि खूंखार आतंकी अबू बकर अल बगदादी अमेरिकी सेना के हावाई ऑपरेशन में मारा गया.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, 'अभी-अभी पुष्टि हुई है कि बगदादी का नंबर वन रिप्लेसमेंट भी अमेरिकी सेना द्वारा मारा गया.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 30, 2019, 7:44 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने दावा किया है कि दुनिया के सबसे बड़े आतंकी और इस्लामिक स्टेट (Islamic State) के सरगना अबू बकर-अल बगदादी (Abu Bakr Al Baghdadi) के साथ ही उसके उत्तराधिकारी को भी अमेरिकी सेना ने अपने ऑपरेशन में ढेर कर दिया था. हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति ने मारे गए आतंकी का नाम नहीं बताया. बता दें कि बगदादी के बाद आतंकी संगठन की कमान अब्दुल्लाह कर्दश के पास आ गई थी. बगदादी के बाद कर्दश ही इन दिनों आतंकी संगठन की देखरेख करता था.

डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को ऐलान किया था कि खूंखार आतंकी अल बगदादी अमेरिकी सेना के हवाई ऑपरेशन में मारा गया. इससे पहले भी कई बार बगदादी के मरने की खबरें मीडिया में आती रहीं है. लेकिन ये पहला मौका है जब अमेरिकी राष्ट्रपति ने खुद ऐलान किया है कि अमेरिकी सेना ने बगदादी का सफाया कर दिया है.



ट्रंप ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, 'अभी-अभी पुष्टि हुई है कि बगदादी का नंबर वन रिप्लेसमेंट भी अमेरिकी सेना द्वारा मारा गया. वह आईएस का सरगना बनने वाला था, अब उसकी मौत हो चुकी है.' मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसा माना जा रहा था कि सद्दाम हुसैन की सेना के पूर्व अधिकारी अब्दुल्ला कर्दश को इस आतंकी संगठन का नया प्रमुख बनाया गया है. कर्दश के बारे में बेहद कम जानकारी ही सामने आ पाई है. हाजी अब्दुल्ला अल अफारी या प्रोफेसर के नाम से मशहूर कर्दश को बगदादी ने आईएसआईएस के कथित 'मुस्लिम मामलों' का विभाग चलाने के लिए खुद चुना था.
Loading...

अब्दुल्ला कर्दाश को प्रोफेसर के नाम से भी जाना जाता था. कर्दाश सद्दाम हुसैन की सेना में भी काम कर चुका था.


अमेरिका ने बताया था दूसरा नाम
पहले ही माना जा रहा था कि बगदादी के बाद उसके आतंक का साम्राज्य उसका करीबी अब्दुल्ला कर्दश संभालेगा. इस्लामिक स्टेट के आतंकियों के बीच ये इसी नाम से मशहूर है. हालांकि अमेरिकी सरकार उस आतंकी का नाम अमीर मोहम्मद सैद अब्दुल रहमान अल मावला बता रही है. अमेरिकी खुफिया एजेंसियां बता रही हैं कि बगदादी और अमीर मोहम्मद की पहचान 15 साल पुरानी है.

ट्रंप ने बगदादी का पीछा करने वाले अमेरिकी सेना के घायल कुत्ते की तस्वीर पोस्ट की
ट्रंप ने अल बगदादी के खिलाफ सीरिया में चलाए गए सैन्य अभियान के दौरान घायल हुए अमेरिकी सेना के एक कुत्ते की तस्वीर साझा की है. हालांकि, इससे पहले अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन के शीर्ष अधिकारियों ने इस श्वान की सुरक्षा के लिहाज से उसके बारे में कोई ब्योरा देने से इनकार कर दिया था. ट्रंप ने सोमवार को ट्वीट किया, ‘हमने इस शानदार श्वान की एक तस्वीर सार्वजनिक की है (नाम नहीं बताया गया है) जिसने आईएसआईएस के सरगना बगदादी को पकड़ने और उसके मारे जाने में एक शानदार भूमिका निभाई.’



शनिवार रात एक सुरंग में बगदादी का पीछा करने और उसका खात्मा करने वाले अभियान के बाद ‘बेल्जियन मलीनोइस’ नस्ल का यह श्वान रातों रात मशहूर हो गया है. ट्रंप के पोस्ट से पहले, पेंटागन ने कहा था कि उत्तर पश्चिमी सीरिया में एक अमेरिकी अभियान में बगदादी का खात्मा करने के अभियान के दौरान घायल हुए श्वान की पहचान उजागर नहीं करेगा.

ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष जनरल मार्क मिले ने कहा, ‘के-9 सैन्य श्वान ने बेहतरीन काम किया, जैसा कि वे विभिन्न परिस्थितियों में करते हैं. वह मामूली रूप से घायल हो गया है.’ अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर के साथ संवाददाता सम्मेलन में अमेरिका के शीर्ष जनरल ने कहा, ‘श्वान अब भी कार्यस्थल पर है और अपने हैंडलर के साथ ड्यूटी पर लौट आया है.’

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 30, 2019, 7:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...