Biden-Putin summit: जेनेवा में हाथ मिलाकर बाइडन और पुतिन ने किया एक-दूसरे का स्वागत

शिखर सम्मेलन में सामरिक स्थिरता, साइबर सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, कोरोना वायरस महामारी और आर्कटिक जैसे विषय होंगे. (फोटो साभारः ANI)

बाइडन एक दशक में पहली बार रूस के राष्ट्रपति से मुलाकात कर रहे हैं. पिछली बार वह मार्च 2011 में पुतिन से तब मिले थे जब रूस के नेता प्रधानमंत्री थे और बाइडन उपराष्ट्रपति थे. तब उन्होंने पुतिन को ‘‘हत्यारा’’ और ‘‘विरोधी’’ करार दिया था.

  • Share this:
    जेनेवा. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) की आज स्विट्जरलैंड की राजधानी जेनेवा में बहुप्रतीक्षित शिखर वार्ता हो रही है. बाइडन और पुतिन की इस मुलाकात पर पूरे विश्व की निगाहें टिकी हुई हैं. जेनेवा शिखर सम्मेलन की शुरुआत होते ही अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हाथ मिलाकर एक-दूसरे का स्वागत किया.

    बाइडन एक दशक में पहली बार रूस के राष्ट्रपति से मुलाकात कर रहे हैं. पिछली बार वह मार्च 2011 में पुतिन से तब मिले थे जब रूस के नेता प्रधानमंत्री थे और बाइडन उपराष्ट्रपति थे. तब उन्होंने पुतिन को ‘‘हत्यारा’’ और ‘‘विरोधी’’ करार दिया था. उनके बीच व्यापार एवं हथियार नियंत्रण जैसे मुद्दों पर चर्चा हो सकती है. बाइडन ने कहा कि उन्हें पुतिन के साथ ‘‘सहयोग’’ वाले क्षेत्रों को तलाशने की उम्मीद है लेकिन वह साइबर अपराध, अमेरिकी चुनावों में रूस का हस्तक्षेप जैसे मुद्दों पर उनसे जिरह करेंगे.

    इन मुद्दों पर हो सकती है दोनों नेताओं के बीच चर्चा
    शिखर सम्मेलन में सामरिक स्थिरता, साइबर सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, कोरोना वायरस महामारी और आर्कटिक जैसे विषय होंगे. पुतिन और बाइडन यूक्रेन, सीरिया और लीबिया जैसे क्षेत्रीय संकटों पर भी चर्चा कर सकते हैं. साथ ही वे ईरान के परमाणु कार्यक्रम और अफगानिस्तान पर भी विचार-विमर्श करेंगे.

    ये भी पढ़ेंः- चीन के बढ़ते आर्थिक प्रभाव को रोकने के लिए US का बड़ा कदम, ड्रैगन ने जताई आपत्ति

    पुतिन के विदेश मामलों के सलाहकार यूरी यूशाकोव ने कहा कि मॉस्को एवं वॉशिंगटन में तनाव के बीच यह बैठक महत्वपूर्ण है लेकिन उम्मीदें ज्यादा नहीं हैं. यूशाकोव ने इस हफ्ते संवाददाताओं से कहा, ‘‘द्विपक्षीय संबंध जब बहुत बुरे दौर में हैं तब इस तरह की पहली बैठक हो रही है. दोनों पक्ष महसूस करते हैं कि लंबित मुद्दों पर बातचीत शुरू करने की जरूरत है.’’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.