Home /News /world /

यूक्रेन पर अमेरिका-रूस में टकराव, जो बाइडेन की चेतावनी- पूर्वी यूरोप में भेजेंगे अमेरिकी सैनिक

यूक्रेन पर अमेरिका-रूस में टकराव, जो बाइडेन की चेतावनी- पूर्वी यूरोप में भेजेंगे अमेरिकी सैनिक

जो बाइडन ने यूक्रेन पर हमले की स्थिति में रूस को कड़े परिणाम भुगतने की चेतावनी भी दी है.

जो बाइडन ने यूक्रेन पर हमले की स्थिति में रूस को कड़े परिणाम भुगतने की चेतावनी भी दी है.

US President Joe Biden reacts on Russia-Ukraine Tension: रूस और यूक्रेन के बीच जारी तनाव को लेकर अमेरिका और सख्त हो गया है. यूएस प्रेसिडेंट जो बाइडेन ने कहा है कि वह कम संख्या में आर्मी को ईस्टर्न यूरोप भेजेंगे. वहीं यूएस ज्वाइंट चीफ चेयरमैन मार्क माइली ने रूस और यूक्रेन के बीच जारी तनाव को लेकर चेतावनी दी है और कहा है कि किसी भी तरह के सैन्य टकराव के कारण बड़ी हानि होगी और युद्ध के नतीजे बहुत भयानक होंगे. उधर अमेरिका के विदेश मंत्री लॉयड अस्टिन ने कहा कि रूस और यूक्रेन के बीच जारी तनाव को कूटनीतिक प्रयासों के जरिए हल किया जा सकता है और इसकी गुंजाइश अभी बाकी है. हालांकि रूस के राष्ट्रपति ने यूक्रेन के खिलाफ किसी भी सैन्य कार्रवाई से इनकार किया है.

अधिक पढ़ें ...

वॉशिंगटन: रूस और यूक्रेन (Russia-Ukraine Tension) के बीच बढ़ते तनाव को लेकर यूएस प्रेसिडेंट जो बाइडेन (Joe Biden) ने अमेरिकी फौज को पूर्वी यूरोप में भेजने की बात कही है. राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि वह कम संख्या में आर्मी को ईस्टर्न यूरोप भेजेंगे. अमेरिकी राष्ट्रपति (US President) का यह बयान उस वक्त आया है जब अमेरिकी जनरल मार्क माइली ने कहा है कि रूस के साथ यूद्ध में जाने के परिणाम दोनों पक्षों के लिए खतरनाक साबित होंगे. इससे पहले नाटो (NATO) यानि नॉर्थ अटलांटिक ट्रीट ऑर्गेनाइजेशन ने भी यूक्रेन पर रूस की संभावित सैन्य कार्रवाई की आशंका के मद्देनजर पूर्वी यूरोप में सेनाओं को तैनात करने का फैसला लिया है.

हालांकि यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमियर जेलेंस्की ने अपनी बॉर्डर पर रूस की सेनाओं की तैनाती के मुद्दे पर नेताओं से भय का वातावरण नहीं बनाने की अपील की है. नाटो ने कहा कि वह कम समय के अंदर पूर्वी यूरोप में 8500 सैनिकों को तैनात कर देगा. उधर यूएस ज्वाइंट चीफ चेयरमैन मार्क माइली ने रूस और यूक्रेन के बीच जारी तनाव को लेकर चेतावनी दी है और कहा है कि किसी भी तरह के सैन्य टकराव के कारण बड़ी हानि होगी और युद्ध के नतीजे बहुत भयानक होंगे.

वहीं अमेरिका के विदेश मंत्री लॉयड अस्टिन ने कहा कि रूस और यूक्रेन के बीच जारी तनाव को कूटनीतिक प्रयासों के जरिए हल किया जा सकता है और इसकी गुंजाइश अभी बाकी है. उन्होंने कहा कि इस विवाद को टाला जा सकता है. यूएस सेक्रेटरी ऑफ स्टेट लॉयड अस्टिन ने कहा कि रूस के राष्ट्रपति पुतिन इस मामले में कुछ बेहतर कर सकते हैं. ऐसा कोई कारण नहीं है कि इस स्थिति के कारण विवाद बढ़े. रूस अपने सैनिकों को पीछे हटने को कह सकता है.

यह भी पढ़ें: उत्तर कोरिया कर रहा है ताबड़तोड़ मिसाइल परीक्षण, जानिए क्या है वजह

वहीं फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रोन के साथ फोन पर बात करते हुए रूस के प्रेसिडेंट व्लामिदिर पुतिन ने कहा कि रूस की मौलिक चिंताएं बाकी है. क्योंकि क्रेमिलन ने कहा कि पश्चिमी देशों ने अहम सवालों की अनदेखी की थी.

यूक्रेन संकट को लेकर रूस और अमेरिका के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है. यूक्रेन बॉर्डर पर रूसी सैनिकों की तैनाती के बाद अमेरिका ने चेतावनी देते हुए कहा कि रूस, यूक्रेन पर हमला करने के लिए तैयार है और वह मध्य जनवरी या मध्य फरवरी के बीच इस हमले को अंजाम दे सकता है. हालांकि फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ बातचीत में रूस ने यूक्रेन के खिलाफ किसी सैन्य कार्रवाई की योजना से इनकार किया
है.

Tags: Joe Biden, Vladimir Putin

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर