• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • Afghanistan Crisis: अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन बोले- अफगानिस्तान छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं था, लेकिन मिशन रहा कामयाब

Afghanistan Crisis: अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन बोले- अफगानिस्तान छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं था, लेकिन मिशन रहा कामयाब

अफगानिस्तान से निकासी से बाद बाइडन ने अमेरिका को संबोधित किया(AP Photo/Evan Vucci)

अफगानिस्तान से निकासी से बाद बाइडन ने अमेरिका को संबोधित किया(AP Photo/Evan Vucci)

Afghanistan Crisis: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि हमने जो किया उसे भुलाया नहीं जा सकता है. उन्होंने दावा कि करीब 1 लाख 25 हजार से अधिक लोग एयर लिफ्ट किए गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    वॉशिंगटन. अफगानिस्तान (Afghanistan) से अमेरिका (America) की अशांत वापसी पर तीखी आलोचना का सामना करते हुए राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) ने देश को संबोधित किया. आखिरी अमेरिकी सी-17 विमान काबुल से लौटने के चौबीस घंटे बाद, बाइडन ने अमेरिका के सबसे लंबे युद्ध को खत्म करने और 31 अगस्त की समय सीमा से पहले सभी अमेरिकी सैनिकों को वापस लेने के अपने फैसले का जोरदार बचाव किया. भारतीय समयानुसार मंगलवार मध्यरात्रि में दिए अपने संबोधन में अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि मेरा मानना है कि ‘यह सही, बुद्धिमानी भरा और सर्वोत्तम निर्णय है. अफगानिस्तान में युद्ध अब समाप्त हो गया है. युद्ध को खत्म करने के मुद्दे का सामना करने वाला चौथा राष्ट्रपति हूं… मैंने इसे खत्म करने के लिए अमेरिकियों से वादा किया और अपने वादे का सम्मान भी किया.’ व्हाइट हाउस के एक भाषण में उन्होंने कहा, ‘मैं इस युद्ध को हमेशा के लिए आगे नहीं बढ़ाने वाला था.’

    बाइडन ने कहा कि मैं इस फैसले की जिम्मेदारी ले रहा हूं. लोगों का कहना है कि यह फैसला हमें पहले लेना चाहिए था. मैं इससे सहमत नहीं हूं क्योंकि अगर यह पहले होता तो वहां अराजकता का माहौल हो जाता और गृहयुद्ध की स्थिति हो जाती. ऐसे में बिना चुनौती और खतरे के वहां से निकला नहीं जा सकता था.

    उन्होंने कहा, ‘अफगानिस्तान के बारे में यह फैसला सिर्फ अफगानिस्तान तक सीमित नहीं है. यह अन्य देशों पुनर्निर्माण के लिए  सैन्य अभियानों के एक युग को  भी खत्म करने जैसा है.’ बाइडने ने कहा कि अमेरिका ने अफगानिस्तान में जो किया, उसे भुलाया नहीं जा सकता.

    अमेरिकी विमानों से लोगों को एयरलिफ्ट करने की प्रशंसा करते हुए बाइडन ने कहा कि लोगों को पेशेवर तरीके से निकाला गया और हमने जो किया उसे भुलाया नहीं जा सकता है. उन्होंने दावा कि करीब 1 लाख 25 हजार से अधिक लोग एयर लिफ्ट किए गए.

    हमेशा लड़ेंगे अफगानी लोगों की लड़ाई- बाइडन
    बाइडन ने कहा कि हमारे पास काबुल छोड़ने के अलावा कोई और विकल्प नहीं था. हमने अमेरिकी हितों के लिए काबुल छोड़ा. राष्ट्रपति ने कहा कि अफगानी जमीन का इस्तेमाल आतंक के लिए नहीं होना चाहिए. वैश्विक नीतिके संदर्भ में बाइडन ने कहा कि  हम चीन से कड़े मुकाबले का सामना कर रहे हैं. रूस भी हमें चुनौती दे रहा है. हम अफगानिस्तान में उनसे मुकाबला नहीं करना चाहते. हम नए रास्तों से आगे बढ़ना चाहते हैं. हमारी विदेश नीति देश हित में होनी चाहिए.

    बाइडन ने कहा कि हम हमेशा अफगानी लोगों के अधिकारों और मानवाधिकारों के लिए संघर्ष करते रहेंगे. 20 साल की हमारी लड़ाई बहुत मुश्किल थी. यह अमेरिका के लिए बहुत महंगा साबित हुआ.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज