US Presidential Election 2020: डोनाल्ड ट्रंप बोले- राष्ट्रपति चुनाव की प्रणाली को पहुंचाया गया नुकसान, इस पर हो चर्चा

  (AP Photo/Brynn Anderson)
(AP Photo/Brynn Anderson)

US Presidential Election 2020: अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव के नतीजे को लेकर दुनियाभर में उत्सुकता है और विभिन्न देशों में लोग बेसब्री से चुनाव परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं. फिलहाल डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और जो बाइडन (Joe Biden) दोनों बहुमत के आंकड़े से दूर हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 7:22 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव  (US Presidential Election 2020)के परिणाम की घड़ी जैसे जैसे नजदीक आती जा रही है, उसी क्रम में राजनीतिक बयानबाजियां भी तेज हो गई हैं. NCB न्यूज के अनुसार डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडन (Joe Biden) 253 चुनावी वोट जीत चुके हैं, जबकि डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) फिलहाल 214 पर ही सीमित हैं. बाइडन ने जीत के करीब पहुंच कर समर्थकों से जीत के लिए विश्वास रखने को कहा है. वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया राष्ट्रपति चुनाव को नुकसान पहुंचाया गया है.

एक ट्वीट में ट्रंप ने कहा, 'हमारे वकीलों से 'सार्थक पहुंच' के लिए कहा गया है, लेकिन क्या यह सही है? हमारी अखंडता और राष्ट्रपति चुनाव की प्रणाली का पहले ही नुकसान हो चुका है. इस पर चर्चा होनी चाहिए!'


ट्रंप ने किया चुनाव प्रक्रिया में ‘धोखाधड़ी’ का दावा
इससे पहले एक अन्य ट्वीट में ट्रंप ने चुनाव को अमेरिकी जनता के साथ धोखा करार दिया. राष्ट्रपति ट्रंप ने चुनाव प्रक्रिया में गड़बड़ी का कोई हवाला दिए बिना कहा, 'अचानक सब कुछ रुक गया. यह अमेरिकी जनता के साथ धोखाधड़ी है. यह देश के लिए शर्म की बात है. हम यह चुनाव जीत रहे थे.'



ट्रंप ने बुधवार को व्हाइट हाउस में अपने भाषण में कहा, 'करोड़ों लोगों ने हमें वोट दिया है.' उन्होंने दावा किया, 'बेहद निराश लोगों का एक समूह दूसरे समूह के लोगों को हतोत्साहित करने का प्रयास कर रहा है. हम बड़े जश्न की तैयारी में थे. हम जीत रहे थे. लेकिन अचानक सब बदल दिया गया. ट्रंप ने कहा कि वह चाहते हैं कि मतदान रोका जाए. उन्होंने कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट जाएंगे.

ट्रंप ने कहा 'हमारा लक्ष्य अब इस देश की भलाई के लिए अखंडता सुनिश्चित करना है. यह एक बहुत बड़ा क्षण है. यह हमारे देश के साथ एक बड़ा धोखा है. हम चाहते हैं कि कानून का उचित तरीके से उपयोग किया जाए. इसलिए हम अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट जा रहे हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज