लाइव टीवी

अमेरिका ने यूक्रेन पर बनाया जांच का दबाव, ट्रंप से मुलाकात के लिए रखी ये शर्त

भाषा
Updated: October 4, 2019, 1:05 PM IST
अमेरिका ने यूक्रेन पर बनाया जांच का दबाव, ट्रंप से मुलाकात के लिए रखी ये शर्त
डेमोक्रेट की ओर से ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की जांच की मांग के बीच यूक्रेन के विशेष दूत के तौर पर वोल्कर ने इस्तीफा दे दिया था.

डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump) और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेन्स्की के बीच 25 जुलाई को हुई नियोजित बातचीत को लेकर वोल्कर ने संदेश भेजा था कि'व्हाइट हाउस से सुना कि राष्ट्रपति जे ने ट्रंप को आश्वस्त कर दिया है कि वह, 2016 में जो हुआ उसकी जांच करेंगे

  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (America) के राजनयिकों ने यूक्रेन (Ukraine) के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति पर जो बाइडेन (Joe Biden) के बेटे के खिलाफ जांच करने का दबाव बनाया था. राजनयिकों ने इसके बदले में उन्हें अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की पेशकश भी की. यह जानकारी सदन के जांचकर्ताओं की तरफ से बृहस्पतिवार देर रात को जारी कई टेक्स्ट संदेशों में सामने आई हैं. जांचकर्ताओं ने राजनयिक कर्ट वोल्कर के साथ चली 10 घंटे की पूछताछ के बाद ये संदेश जारी किए.

बता दें कि डेमोक्रेट की ओर से ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की जांच की मांग के बीच यूक्रेन के विशेष दूत के तौर पर वोल्कर ने इस्तीफा दे दिया था. इन टेक्स्ट संदेशों से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि तीन राजनयिक एक अलग अभियान चला रहे थे. साथ ही ये संदेश यूक्रेन द्वारा ट्रंप के डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी की जांच में दिलचस्पी दिखा कर ट्रंप के साथ उसके रिश्तों को सुधारने में मदद करते मालूम होते हैं.

डेमोक्रेट की ओर से ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की जांच की मांग के बीच यूक्रेन के विशेष दूत के तौर पर वोल्कर ने इस्तीफा दे दिया था


ट्रंप और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेन्स्की के बीच बातचीत

दरअसल ट्रंप और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेन्स्की के बीच 25 जुलाई को हुई नियोजित बातचीत को लेकर वोल्कर ने संदेश भेजा था, 'व्हाइट हाउस से सुना कि राष्ट्रपति जे ने ट्रंप को आश्वस्त कर दिया है कि वह, 2016 में जो हुआ उसकी, जांच करेंगे/ उसकी तह तक जाएंगे”, हम वाशिंगटन के दौरे की तारीख तय करेंगे.'

यूक्रेन के राष्ट्रपति के एक सलाहकार इस प्रस्ताव पर सहमत होते प्रतीत हुए, जिससे यूक्रेनी गैस कंपनी बुरिसमा जांच के घेरे में आई. इसी गैस कंपनी में जो बाइडेन के बेटे हंटर निदेशक मंडल में थे. दोनों राष्ट्रपतियों के बीच बातचीत के बाद शाम में वोल्कर को भेजे गए संदेश में एंड्री यरमार्क ने लिखा, 'फोन पर बातचीत ठीक रही.'

संदेशों में कई तारीखों का जिक्र
Loading...

यरमार्क ने संदेशों में कई तारीखों का जिक्र किया जब सितंबर में ट्रंप और जेलेन्स्की के बीच मुलाकात हो सकती थी. लेकिन यह सारी योजना विफल होते दिखने लगी जब जेलेन्स्की के सहयोगी ने जांच पर किसी तरह का बयान देने से पहले ट्रंप के साथ मुलाकात की तारीख तय करने की कोशिश की.

यरमार्क ने दो हफ्ते बाद लिखा, 'एक बार तारीख तय होने पर हम संवाददाता सम्मेलन बुलाएंगे, आगामी दौरे की घोषणा करेंगे और अमेरिका-यूक्रेन संबंधों में सुधार की योजना को सामने रखेंगे, जिसमें बुरसिमा और जांच में हस्तक्षेप समेत अन्य चीजें शामिल होंगी.'

वोल्कर ने इस पर लिखा, 'बहुत अच्छी बात.' वोल्कर और दो अन्य राजनयिक - विलियम बिल टेलर और गोर्डन सोन्डलैंड ने उस बयान पर चर्चा की जो जेलेन्स्की द्वारा जांच के समर्थन में दिया जाता. इसके बाद की बातचीत में जांच के मुद्दे को आगे बढ़ाने और ट्रंप की तरफ से यूक्रेन को दी जाने वाली वित्तीय सहायता रोकने के संबंध में चर्चा की गई.

ये भी पढ़ें: 

वेनेजुएला: कैदियों से बेरहमी, नंगा कर उनके बदन पर पुलिस ने लड़वाए मुर्गे

भारत से जल्द होगा हमारा व्यापार समझौता- अमेरिका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 1:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...