अपना शहर चुनें

States

'चीनी आक्रामकता के खिलाफ भारत के साथ रहेगा अमेरिका, LAC के हालात पर भी पैनी नजर'

चीन हमेशा से घुसपैठ की कोशिश करता रहा है. (फोटो:रॉयटर्स)
चीन हमेशा से घुसपैठ की कोशिश करता रहा है. (फोटो:रॉयटर्स)

India China LAC Tension: भारत और चीन की सेनाओं के बीच पिछले साल मई की शुरुआत से पूर्वी लद्दाख में सीमा को लेकर गतिरोध चल रहा है.

  • Share this:

वॉशिंगटन. भारत-चीन सीमा के हालात पर अमेरिका पैनी नजर रखे हुए है और उसने अपने पड़ोसियों को डराने-धमकाने के चीन के रवैए पर चिंता व्यक्त की है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘हम हालात पर पैनी नजर रखे हुए हैं. हम भारत एवं चीन की सरकारों के बीच जारी वार्ता से अवगत हैं और सीधी वार्ता और उन सीमा विवादों के शांतिपूर्ण समाधान का लगातार समर्थन कर रहे हैं.’


भारत और चीन की सेनाओं के बीच पिछले साल मई की शुरुआत से पूर्वी लद्दाख में सीमा को लेकर गतिरोध चल रहा है. पिछले महीने नौवें दौर की सैन्य बातचीत में भारत और चीन के बीच सेनाओं को जल्द से जल्द हटाने और पूर्वी लद्दाख में स्थिति को नियंत्रित करने के लिए निरंतर ‘प्रभावी प्रयास करने’ पर सहमति बनी थी. एक सवाल के जवाब में प्राइस ने कहा, ‘हम पड़ोसियों को डराने धमकाने के चीन के लगातार जारी रवैये से चिंतित हैं. हम हिंद-प्रशांत क्षेत्र के मामले में साझा समृद्धि, सुरक्षा और मूल्यों को आगे बढ़ाने के लिए अपने मित्रों और सहयोगियों के साथ खड़े रहेंगे.’


प्राइस ने भारत-अमेरिका के बीच हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग के महत्व पर जोर दिया है. यह एक ऐसा क्षेत्र है, जहां चीन की ओर से इससे लगते देशों के खिलाफ आक्रामक कार्रवाई देखी गई है. अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, 'भारत, हिंद-प्रशांत क्षेत्र में अमेरिका का एक अहम साझेदार है. हम भारत के विश्व की एक प्रमुख शक्ति के रूप में उदय और क्षेत्र के एक प्रहरी के रूप में उसकी भूमिका का स्वागत करते हैं.'




प्राइस से पूछा गया कि क्या विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने मानवाधिकार के मुद्दों को उठाया है, जिस पर उपराष्ट्रपति कमला हैरिस और भारतीय-अमेरिकी प्रतिनिधि सभा सदस्य प्रमिला जयपाल सहित कई डेमोक्रेटिक पार्टी के नेताओं ने चिंता जताई है. इस पर एक सीधी प्रतिक्रिया दिए बिना, प्रवक्ता ने कहा, 'मैं
यह कह सकता हूं कि यह न केवल भारत के लिए, बल्कि हमारे हर साथी पर लागू होता है. हम एक स्वतंत्र और खुले सभ्य समाज एवं कानून के मजबूत शासन सहित लोकतांत्रिक मूल्यों का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज