Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    US: कोविड-19 वै​क्सीन की ट्रायल पर रोक, निगेटिव रिएक्शन के बाद लिया फैसला

    अमेरिका की कोरोना वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल पर रोक लगा दी गई है.
    अमेरिका की कोरोना वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल पर रोक लगा दी गई है.

    अमेरिकी स्वास्थ्य और मानव सेवा सचिव एलेक्स अजार ने बुधवार को कहा कि एस्ट्राजेनेका पीएलसी (AstraZeneca PLC) की कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के अमेरिकी परीक्षण पर रोक लगा दी गई है

    • News18Hindi
    • Last Updated: September 24, 2020, 2:38 AM IST
    • Share this:
    वाशिंगटन. अमेरिकी स्वास्थ्य और मानव सेवा सचिव एलेक्स अजार ने बुधवार को कहा कि एस्ट्राजेनेका पीएलसी (AstraZeneca PLC) की कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19) के अमेरिकी परीक्षण (Clinical Trial) पर रोक लगा दी गई है क्योंकि फेडरल इन्वेस्टिगेटर्स मरीजों के लिए इसकी सुरक्षा पर कुछ महत्वपूर्ण सवालों के जवाब चाहते हैं. 6 सितंबर को एस्ट्राजेनेका पीएलसी की कोविड-19 वैक्सीन जिसे AZD1222 कहा जाता है, के ग्लोबल क्लीनिकल ट्रायल्स पर रोक लगा दी गई है. यह रोक ब्रिटेन में इस वैक्सीन के ट्रायल्स के प्रतिभागियों में से एक के ऊपर वैक्सीन की गंभीर प्रतिकूल प्रतिक्रिया की सूचना मिलने के बाद लगाईं गई है. एस्ट्राजेनेका ने एक जांच के बाद 12 सितंबर को कहा कि उसने ब्रिटेन में फिर से परीक्षण शुरू कर दिया है लेकिन अमेरिका में अभी भी परीक्षण पर रोक लगी हुई है.

    तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल्स से लोगों को बहुत उम्मीद

    स्वास्थ्य और मानव सेवा सचिव एलेक्स अजार ने सुरक्षा चिंताओं के बीच कोविड -19 की वैक्सीन के विकास को लेकर ट्रंप प्रशासन का बचाव करते हुए सीएनबीसी को बताया कि एस्ट्राजेनेका कार्यक्रम के तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल्स से लोगों को बहुत आशा है. यूनाइटेड किंगडम में वैक्सीन से जुड़ा सिर्फ एक मामले प्रतिकूल परिणाम देखने को मिले हैं. संयुक्त राज्य अमेरिका में अभी भी वैक्सीन के विकास पर रोक लगी हुई है. अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने टीकों की सुरक्षा से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने के लिए जांच कर रहा है. हम जो कुछ भी कर रहे हैं रोगी की सुरक्षा को ध्यान में रख कर रहे हैं.




    एस्ट्राज़ेनेका की प्रवक्ता का बयान

    एस्ट्राज़ेनेका की प्रवक्ता मिशेल मेइसेल ने इस तथ्य की पुष्टि की कि यू.एस. में वैक्सीन पर रोक लगी हुई है. उन्होंने सीएनबीसी को दिए एक बयान में कहा कि हर देश में उनके रेगुलेटर्स यह तय करेंगे कि उनके यहां वैक्सीन से जुड़े परीक्षण कब शुरू हो सकते हैं और अपनी समय सीमा भी वे ही तय करेंगे.

    ये भी पढ़ें: चीन ने नेपाल की जमीन पर किया कब्जा, ओली सरकार के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग 

    Pak: 10 साल पूर्व महिला ने मर्जी से की थी शादी, अब घर के 9 वर्षीय बच्चे ने की हत्या 

    फिलहाल अमेरिका में वैक्सीन के परिक्षणके संबंध में फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. एजेंसी ही तय करेगी कि अमेरिकी परीक्षण कब से शुरू हो सकता है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज