भारत-चीन सीमा विवाद पर अमेरिका रख रहा है करीबी नजर: अधिकारी

भारत और अमेरिका के बीच मंत्री स्तरीय सम्मेलन में चीन-भारत के तनाव का मुद्दा उठेगा. (कॉन्सेप्ट इमेज)
भारत और अमेरिका के बीच मंत्री स्तरीय सम्मेलन में चीन-भारत के तनाव का मुद्दा उठेगा. (कॉन्सेप्ट इमेज)

अमेरिका (America) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि उनका देश भारत और चीन के बीच सीमा विवाद (India-China Border Dispute) पर करीबी नजर रख रहा है और वह नहीं चाहता कि तनाव और बढ़े.

  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि उनका देश भारत और चीन के बीच सीमा विवाद (India-China Border Dispute) पर करीबी नजर रख रहा है और वह नहीं चाहता कि तनाव और बढ़े. अधिकारी ने अगले हफ्ते नयी दिल्ली में भारत और अमेरिका (India-America) के बीच शुरू हो रहे 2प्लस2 मंत्री स्तरीय सम्मेलन से पहले शुक्रवार को पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि ट्रंप प्रशासन रक्षा उपकरण (Donald Trump Administration) बेचने के अलावा संयुक्त सैन्य अभ्यासों और सूचनाओं के आदान-प्रदान से जरिये भारत को सहयोग दे रहा है.

'चीन-भारत सीमा पर तनाव कम हों'

उन्होंने कहा कि हम एक सरकार के रूप में हिमालय क्षेत्र की स्थिति पर बारीकी और सूझबूझ के साथ नजर रखे हुए हैं. हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हालात और तनावपूर्ण न हों.'
अधिकारी ने कहा, 'इन सभी क्षेत्रों में भारत के साथ सहयोग जारी है और इसे केवल हिमालय पर तनाव से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिये.'
ये भी पढ़ें: बाइडेन ने किया वादा, कहा- चुनाव में मिली जीत तो कोरोना का इलाज कर देंगे फ्री



अमेरिका में मकानमालिकों ने दी धमकी, अगर बाइडेन जीते तो बढ़ा दिया जाएगा किराया

बांग्लादेश में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4.1 तीव्रता रही

 US ELECTION 2020: अंतरिक्ष में जीरो ग्रेविटी वाले वोटिंग बूथ में केट रूबिन्स ने डाला अपना वोट 

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख सीमा पर इस साल मई से गतिरोध चल रहा है. इससे दोनों देशों के संबंधों में तनाव पैदा हुआ है. दोनों देशों के बीच राजनयिक और सैन्य स्तर पर कई वार्ताएं हो चुकी हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं निकल पाया है. चीन ने अगस्त के आखिरी सप्ताह में पेंगोंग झील के दक्षिणी तट पर भारतीय क्षेत्र पर कब्जा करने की कोशिश की थी, जिसे नाकाम कर दिया गया था. चीन का सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स भारत को उकसाने की कोशिश में लगा रहता है. वह भारत के खिलाफ लगातार लेख और टिप्पणियां छापता रहता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज