लाइव टीवी

अमेरिका चाहता है दलाई लामा के उत्तराधिकारी का मामला संयुक्त राष्ट्र में उठाया जाए: ऑफिशियल

भाषा
Updated: November 9, 2019, 2:00 PM IST
अमेरिका चाहता है दलाई लामा के उत्तराधिकारी का मामला संयुक्त राष्ट्र में उठाया जाए: ऑफिशियल
अमेरिकी विशेष दूत सैम ब्राउनबैक ने कहा दलाई लामा के उत्तराधिकारी का मामला UN में उठाया जाए

अमेरिकी विशेष दूत सैम ब्राउनबैक (Sam Brownback) ने कहा कि उन्होंने 84 साल के दलाई लामा से धर्मशाला में पिछले सप्ताह मुलाकात करके उत्तराधिकारी के मामले पर लंबी चर्चा की थी.

  • Share this:
वाशिंगटन. अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता मामलों के लिए अमेरिका के विशेष दूत ने कहा कि अमेरिका चाहता है कि दलाई लामा (Dalai Lama) का उत्तराधिकारी चुनने का मामला संयुक्त राष्ट्र (United Nation) में उठाया जाए ताकि तिब्बतियों के आध्यात्मिक नेता का उत्तराधिकारी चुनने की चीन की कोशिश को रोका जा सके. अमेरिकी विशेष दूत सैम ब्राउनबैक (Sam Brownback) ने कहा कि उन्होंने 84 साल के दलाई लामा से धर्मशाला में पिछले सप्ताह मुलाकात करके उत्तराधिकारी के मामले पर लंबी चर्चा की थी.

ब्राउनबैक ने बताया कि उन्होंने दलाई लामा से कहा कि अमेरिका इस बात के लिए वैश्विक स्तर पर समर्थन हासिल करने की कोशिश करेगा कि अगले आध्यात्मिक नेता का चयन चीन सरकार नहीं बल्कि बौद्ध धर्म के अनुयायी तिब्बती करें. उन्होंने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि संयुक्त राष्ट्र इस मामले को उठाएगा.

ब्राउनबैक ने स्वीकार किया कि सुरक्षा परिषद में वीटो शक्ति रखने वाला चीन इस संबंधी हर कदम को बाधित करने की कोशिश करेगा लेकिन बाकी देश संयुक्त राष्ट्र में अपनी आवाज तो उठा सकते है.

चीन ने कहा था कि बौद्ध धर्म के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा के अगले उत्तराधिकारी के चयन में उसकी मंजूरी जरूरी होगी न कि किसी और देश की. चीन का यह बयान अमेरिका को करारा जवाब है जिसमें कहा गया था कि निर्वासित दलाई लामा के अगले उत्तराधिकारी का चयन तिब्बत के लोग करेंगे न कि बीजिंग के.

84 साल के दलाई लामा की तबीयत को देखते हुए उनके उत्तराधिकारी की तलाश और तेज हो गई. 1959 में चीनी शासन के खिलाफ तिब्बती विद्रोह के बाद से ही दलाई लामा निर्वासित चल रहे हैं और फिलहाल उनका डेरा धर्मशाला में है. चीन पहले से ही अगले दलाई लामा के चयन पर अपना एकाधिकार जताता रहा है.

ये भी पढ़ेंं : इजराइल में हिरासत में था भारतीय परिवार, भेजा जाएगा भारत वापस 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 2:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...