होम /न्यूज /दुनिया /आरामको पर हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा देने के लिए पूरी तरह तैयार है अमेरिका : ट्रंप

आरामको पर हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा देने के लिए पूरी तरह तैयार है अमेरिका : ट्रंप

इससे पहले अमेरिका ने उइगर दमन के मामले में चीन की 28 संस्थाओं को सोमवार को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया.

इससे पहले अमेरिका ने उइगर दमन के मामले में चीन की 28 संस्थाओं को सोमवार को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ट्वीट से सैन्य कार्रवाई की आशंका बढ़ गयी है और इस कारण पहले से ही तनावपूर्ण चल रहे ...अधिक पढ़ें

    वॉशिंगटन. अमेरिका ( America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump)  ने चेतावनी दी है कि सऊदी अरब (Saudi arab) की तेल कंपनी पर किए गए ड्रोन हमले का जवाब देने के लिए उनका देश पूरी तरह से तैयार है.

    गौरतलब है कि ट्रंप के इस बयान से एक दिन पहले अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने हमलों के लिए ईरान (Iran) को जिम्मेदार बताया था. इस हमले के कारण तेल की कीमत में तेजी से वृद्धि हुई. खाड़ी युद्ध के बाद तेल कीमतों में इतना उछाल पहली बार देखा गया है.

    शनिवार को हुए इन हमलों में सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी अरामको (Aramco)के अब्कैक स्थित सबसे बड़े तेल शोधन संयंत्र और खुरैस स्थित तेल क्षेत्र को निशाना बनाया गया.

    ईरान ने इन हमलों में किसी भी प्रकार की संलिप्तता से इंकार किया है. इसकी जिम्मेदारी यमन में सक्रिय ईरान से जुड़े हुती विद्रोहियों ने ली है.

    अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने बिना कोई साक्ष्य दिए हमले के लिए ईरान को जिम्मेदार बताया. इसपर ईरान ने अमेरिका पर धोखा देने का आरोप लगाया.

    डोनाल्ड ट्रम्प, साउदी अरबिया, अरामको समाचार, विश्व समाचार, दुनिया, ईरान,donald trump, saudi arab, armaco news, world news, world,iran,

    ट्रंप ने ईरान पर नहीं लगाया सीधा आरोप

    रविवार को किए गए ट्वीट में हालांकि राष्ट्रपति ट्रंप ने ईरान पर सीधे-सीधे आरोप नहीं लगाया लेकिन कहा कि हमले के लिए जो भी जिम्मेदार है उसका पता लगते ही उनका प्रशासन उसके खिलाफ सैन्य कार्रवाई कर सकता है.

    ट्रंप ने कहा, 'सऊदी अरब की तेल आपूर्ति पर हमला किया गया है. यह मानने की वजह है कि हम दोषी को जानते हैं और उसके सत्यापन के बाद कार्रवाई के लिए पूरी तरह तैयार हैं, लेकिन हम सऊदी अरब की प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहे हैं कि वह इन हमलों के लिए किसे जिम्मेदार मानते हैं और हमें किस तरीके से आगे बढ़ेंगे.'

    ट्रंप के ट्वीट से सैन्य कार्रवाई की आशंका बढ़ गयी है और इस कारण पहले से ही तनावपूर्ण चल रहे संबंधों में और खिंचाव आ गया है.

    पांच फीसदी हिस्से को किया प्रभावित

    सऊदी अरब की सरकारी कंपनी सऊदी अरामको पर शनिवार को हुए दो ड्रोन हमलों ने कंपनी की रोजाना की वैश्विक आपूर्ति के पांच प्रतिशत हिस्से को प्रभावित किया है.

    एएफपी की खबर के अनुसार, इन हमलों के कारण सोमवार को कच्चे तेल की कीमतों में करीब 20 प्रतिशत का उछाल आया. ब्रेंट कच्चा तेल की कीमत करीब 12 डॉलर बढ़ी. 1990-91 खाड़ी युद्ध के बाद तेल कीमत में यह सबसे बड़ी उछाल है.

    यह भी पढ़ें:  रक्षा विशेषज्ञ का दावा- PAK सेना के संरक्षण में रह रहा था लादेन का बेटा हमजा

    Tags: America, Saudi arabia, World, World news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें