अमेरिका की चुनावी सभाओं में पढ़े जा रहे हैं वेद और महाभारत के श्लोक

अमेरिका की चुनावी सभाओं में पढ़े जा रहे हैं वेद और महाभारत के श्लोक
राष्ट्रपति पद की दौड़ में जो बाइडेन और डोनाल्ड ट्रंप आमने सामने हैं.

डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन (National Seminar of Democratic Party) की शुरुआत ऑनलाइन सर्वधर्म प्रार्थना सभा में वेदों एवं महाभारत (Mahabharata) के श्लोकों तथा सिख धर्म की अरदास (Ardas) के साथ हुई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 17, 2020, 3:30 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन (National Seminar of Democratic Party) की शुरुआत ऑनलाइन सर्वधर्म प्रार्थना सभा के साथ हुई. इसमें वेदों एवं महाभारत (Mahabharata) के श्लोकों तथा सिख धर्म की अरदास (Ardas) के साथ हुई. टेक्सास में चिन्मय मिशन की एक अनुयायी ने मंत्रोच्चार किया तथा विस्कोन्सिन गुरुद्वारे से जुड़े सिख समुदाय के एक नेता ने अरदास की. सोमवार से शुरू हुए चार दिन के सम्मेलन में पूर्व उप राष्ट्रपति जो बाइडेन को डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए और भारतीय मूल की सीनेटर कमला हैरिस को उप राष्ट्रपति पद के लिए विधिवत उम्मीदवार चुना जाएगा.

यहां किया गया ऐसे भगवान का आह्वान
इससे पहले ‘बाइडेन फॉर प्रेसीडेंट’ अभियान के लिए राष्ट्रीय धर्म सहभागिता निदेशक जोश डिकसन ने रविवार को अमेरिका की सामूहिक शक्ति, विविधता तथा मानवता के सम्मान में सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया. टेक्सास में एटॉर्नी नीलिमा गोनुगुंटला ने कहा कि हम जब अगले राष्ट्रपति के उम्मीदवार के तौर पर अपने समय के सबसे अनुभवी और सम्मानित नेताओं में से एक को नामित करने वाले हैं तथा भारतीय मूल की पहली महिला को उप राष्ट्रपति पद के लिए नामित करने वाले हैं तो हम भगवान का आह्वान करते हैं और शाश्वत हिंदू ग्रंथों से अलौकिक प्रेरणा प्राप्त करना चाहते हैं. अमेरिका में सबसे बड़े हिंदू संगठनों में शामिल चिन्मय मिशन डल्लास फोर्ट वर्थ के बोर्ड की सदस्य नीलिमा ने शांति पाठ किया.

सौहार्द बढ़ाने के लिए शांति पाठ का भी हुआ आयोजन
उन्होंने कहा, ‘इस प्रार्थना का मूल भाव हमें सौहार्द के साथ मिलकर काम करने को प्रोत्साहित करता है जिसमें न केवल एक दूसरे को सहन किया जाए, बल्कि प्रेम के साथ एक दूसरे को स्वीकार किया जाए और कोई बैरभाव नहीं रहे. यह हमें ऊर्जा तथा गहन तन्मयता के साथ अच्छे से अच्छा काम करने के लिए प्रेरित करता है.’ बाइडेन और हैरिस के लिए उन्होंने महाभारत की पंक्तियां पढ़ते हुए कहा, ‘यतो कृष्ण ततो धर्म, यतो धर्म ततो जय.’



ये भी पढ़ें: भारत और नेपाल के संबंधों में आया नया मोड़, 9 महीने बाद आज होगी बैठक

बहरीन में बुर्के वाली महिला ने तोड़ी भगवान गणेश की मूर्तियां, देंखे Video

सर्वधर्म सभा का उद्घाटन ओक क्रीक गुरुद्वारे के संस्थापक सावंत सिंह कलेका के पुत्र प्रदीप कलेका ने किया. सावंत का निधन 2012 में गुरुद्वारे में गोलीबारी की घटना में हो गया था जिसमें 40 वर्षीय हमलावर ने छह लोगों की हत्या कर दी थी और चार अन्य को घायल कर दिया था. बाद में एक अन्य व्यक्ति की भी मौत हो गयी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज