वेनेजुएला में नेता ने कहा- जो वोट नहीं करेंगे, उन्हें नहीं मिलेगा खाना

वेनेजुएला में चुनाव में खाना का लालच देकर वोट मांगा जा रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वेनेजुएला में चुनाव में खाना का लालच देकर वोट मांगा जा रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Hunger Crises in Venezuela: वेनेजुएला में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ रहे निकोलस मादुरो के लिए प्रचार कर रहे उनके शक्तिशाली सहयोगी डायोसाडो कैबेलो (Diosdado Cabello) ने एक रैली में कहा कि जो वोट नहीं करेंगे, उनको खाना नहीं मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2020, 6:39 PM IST
  • Share this:
काराकस. कुछ देशों में मतदान अनिवार्य है और अगर आप वोट नहीं देते हैं तो आपको दंडित किया जा सकता है या फिर आप पर जुर्माना लगाया जा सकता है. लेकिन वेनेजुएला (Venezuela) में आपने मतदान नहीं करना आपको और गंभीर दंड दिला सकता है. वहां अगर आपने वोट नहीं किया तो आप खाना नहीं खा (If you don't vote, you don't eat) सकते हैं. राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ रहे निकोलस मादुरो के लिए प्रचार कर रहे उनके शक्तिशाली सहयोगी डायोसाडो कैबेलो (Diosdado Cabello) ने एक रैली में कहा कि जो वोट नहीं करेंगे, उनको खाना नहीं मिलेगा. उन्होंने सोमवार को एक प्रचार रैली में भाषण देते हुए कहा कि जो वोट नहीं देंगे, उन्हें खाना नहीं मिलेगा.

अभी वेनेजुएला के अंतरिम राष्ट्रपति जुआन हैं

वेनेजुएला में 6 दिसंबर यानि आज वोटिंग हो गई. यह चुनाव एक नई संसद, जिसे नेशनल असेंबली के बतौर जाना जाता है. अभी वेनेजुएला के अंतरिम राष्ट्रपति जुआन गुआडो हैं. उन्हें करीब 60 देशों से मान्यता मिली हुई है. इन देशों में अमेरिका भी शामिल हैं.

107 राजनीतिक पार्टियां चुनाव में भाग ले रही है
वेनेजुएला में आज 277 सीटों के लिए मतदान कराया गया है. पिछले चुनाव में 166 सीटों के लिए मतदान कराया गया था. इस चुनाव में 107 राजनीतिक पार्टियां भाग ले रही हैं. चुनाव में आज 14,400 प्रत्याशी अपना-अपना भाग्य आजमाने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं. युनाइटेड स्टेट्स आफ वेनेजुएला और उसके सहयोगी दल तथा विपक्षी दलों के बीच कड़ा मुकाबला होना तय माना जा रहा है.

ये भी पढ़ें: ईरान ने परमाणु वैज्ञानिक की हत्या का लिया बदला? इजरायल के 'मोसाद कमांडर' की हत्या का वीडियो वायरल

इंडोनेशिया के कैबिनेट मंत्री पर एक मिलियन डॉलर रिश्वत लेने का आरोप, होगी गिरफ्तारी




मादुरो को सत्ता में बनाए रखने के लिए कुछ आपराधिक गिरोहों ने वेनेजुएला के सबसे गरीब इलाकों में से कुछ को बंद कर दिया था. पेटारे, वेनेजुएला और लैटिन अमेरिका के सबसे बड़े स्लम के बारियो के निवासियों का कहना है कि कैबेलो के भाषण के तुरंत बाद, उन्हें धमकियां मिलनी शुरू हो गईं हैं. वे हमारे घर के इर्द-गिर्द घूमने लगे और हमें बताया गया कि एक बस आएगी और हमें मतदान केंद्र तक ले जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज