भारत के सत्या त्रिपाठी को संयुक्त राष्ट्र में मिली ये अहम ज़िम्मेदारी

35 साल से अधिक का अनुभव रखने वाले त्रिपाठी 1998 से संयुक्त राष्ट्र से जुड़े हुये हैं और वो यूरोप, एशिया और अफ्रीका में विकास, मानवाधिकारों, लोकतांत्रिक प्रशासन और कानूनी मामलों में रणनीतिक कार्यों में शामिल रहे हैं.

भाषा
Updated: August 28, 2018, 12:00 PM IST
भारत के सत्या त्रिपाठी को संयुक्त राष्ट्र में मिली ये अहम ज़िम्मेदारी
सांकेतिक तस्वीर
भाषा
Updated: August 28, 2018, 12:00 PM IST
भारत के विकास अर्थशास्त्री और संयुक्त राष्ट्र के अधिकारी सत्या एस त्रिपाठी को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) का सहायक महासचिव नियुक्त किया है. इस नियुक्ति की घोषणा संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटारेस की.

त्रिपाठी, त्रिनिदाद और टोबैगो के इलियट हैरिस का स्थान लेंगे. वो 2017 से यूएनईपी में वरिष्ठ सलाहकार के रूप में तैनात थे. महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने बताया कि विकास अर्थशास्त्री और वकील के रूप में 35 साल से अधिक का अनुभव रखने वाले त्रिपाठी 1998 से संयुक्त राष्ट्र से जुड़े हुये हैं और वो यूरोप, एशिया और अफ्रीका में विकास, मानवाधिकारों, लोकतांत्रिक प्रशासन और कानूनी मामलों में रणनीतिक कार्यों में शामिल रहे हैं.

त्रिपाठी ने कॉमर्स में ग्रैजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की है. इसके अलावा भारत के बरहामपुर विश्वविद्यालय से उन्होंने लॉ में भी ग्रैजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन किया है.

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम इस वैश्विक संस्था की प्रमुख एजेंसी है जो पर्यावरण के लिए काम करती है. ये दुनियाभर में सरकारों, निजी क्षेत्र, नागरिक समाजों और संयुक्त राष्ट्र से संबद्ध अन्य संगठनों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ मिल कर काम करती है.

ये भी पढ़ें:

Opinion- नरेंद्र मोदी को फिर पीएम बनने से क्यों रोकना चाहते हैं अमर्त्य सेन?
अलागिरी के 'ऐलान-ए-जंग' के बीच स्टालिन को मिला DMK प्रमुख का ताज

और भी देखें

Updated: September 19, 2018 12:01 PM ISTVIDEO- CM ममता बनर्जी ने पियानो पर छेड़ी 'हम होंगे कामयाब' की धुन
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर