बच्चों के रेप की वीडियो बेचने वाला गिरफ्तार, अमेरिका में भी चल रहा है मुकदमा

बच्चों के रेप की वीडियो बेचने वाला गिरफ्तार, अमेरिका में भी चल रहा है मुकदमा
दक्षिण कोरिया में बच्चों के बलात्कार की वीडियो बेचने वाला गिरफ्तार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दक्षिण कोरिया (South Korea) की एक अदालत ने सोमवार को एक वेबसाइट को बच्चों की पोर्नोग्राफी साइट (Child Porn Website) चलाने के लिए दोषी पाया है. यह व्यक्ति आमदनी के लिए पोर्न वीडियो (Porn Video) दुनियाभर में बेचता था.

  • Share this:
सिओल. दक्षिण कोरिया (South Korea) की एक अदालत ने सोमवार को एक वेबसाइट को बच्चों की पोर्नोग्राफी साइट (Child Porn Website) चलाने के लिए दोषी पाया है. अमेरिका ने इस व्यक्ति के लिए प्रत्यर्पण का अनुरोध किया है जिसे दक्षिण कोरिया ने खारिज कर दिया है. यह व्यक्ति आमदनी के लिए पोर्न वीडियो (Porn Video) दुनियाभर में बेचता था.

18 महीने की सजा पहले ही काट चका है सोन जों-वू

बच्चों की पोर्नोग्राफी साइट चलाने वाले व्यक्ति का नाम सोन जोंग-वू है, जिसे दक्षिण कोरियाई बाल संरक्षण और सूचना कानून के उल्लंघन करने पर 18 महीने की सजा काटी. उसकी सजा इस साल अप्रैल में पूरी हुई लेकिन उसे अभी भी हिरासत में रखा हुआ है. सोन जोंग-वू को वाशिंगटन में अमेरिकी संघीय आरोपों में भी दोषी ठहराया गया है.



कोर्ट केस के चलते अमेरिका के अनुरोध को ठुकराया
योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार सिओल उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में कहा कि सोन जोंग-वू के अमेरिका प्रत्यर्पण के अनुरोध को इसलिए अस्वीकार कर दिया गया है क्योंकि उसे संयुक्त राज्य अमेरिका में भेजने से दक्षिण कोरिया में चल रहे मुकदमे की जांच में बाधा आ सकती है.

इस नेटवर्क से जुड़े 338 लोग हुए गिरफ्तार

कोर्ट ने कहा कि सोन जोंग-वू को निर्दोष नहीं माना गया है और उसे जांच एजेंसियों के साथ पूरी ईमानदारी के साथ सहयोग करना चाहिए और सजा के लिए तैयार रहना चाहिए. अधिकारियों ने बताया कि पिछले साल उन्होंने 12 देशों में इस नेटवर्क से जुड़े कम से कम 338 लोगों को गिरफ्तार किया था जो सबसे बड़े चाइल्ड पोर्नोग्राफी ऑपरेशन को चला रहे थे. इस वेबसाइट का नाम 'वेलकम टू वीडियो' है जो बिटकॉइन क्रिप्टोकरेंसी से व्यापार करती थी.

ये भी पढ़ें: कुवैत में बना विदेशी श्रमिकों को कम करने का कानून, 7 लाख भारतीयों की नौकरी पर संकट

यहां कई महीनों बाद खोले गए रेड लाइट एरिया, Kissing पर लगी है रोक

अधिकारियों के अनुसार यह वेबसाइट बाल यौन शोषण के 2 लाख 50 हजार वीडियो बेच चुका था जिनमें अधिकतर में बहुत छोटे बच्चों का बलात्कार होता हुआ भी दिखाया जाता था. इसके अपलोड पेज पर विशेष रूप से लिखा हुआ है कि व्यस्क पोर्न अपलोड न करें. सोन से जुड़े मामले में कई लोगों को संयुक्त राज्य में 15 साल की सजा सुनाई गई है. दक्षिण कोरिया में बच्चों की पोर्नोग्राफी से जुड़े अपराधों में सख्त कानून और ज्यादा से ज्यादा दंड लगाया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading