PAK: जब कश्मीर मुद्दे पर चल रहे इंटरनेशनल वेबिनार में गूंजने लगा 'जय श्रीराम', देखें VIDEO

पाकिस्तानी वेबिनार में गूंजने लगा जयश्रीराम
पाकिस्तानी वेबिनार में गूंजने लगा जयश्रीराम

Viral: पाकिस्तानी अधिकारी कश्मीर मुद्दे पर एक अंतरराष्ट्रीय सेमीनार/वेबिनार कर रहे थे. इसी दौरान भारतीय हैकर्स ने इस ज़ूम कॉल को न सिर्फ हैक किया बल्कि 'जय श्रीराम' के नारे भी लगा दिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 7:48 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) लगातार अंतरराष्ट्रीय मंचों और कई अन्य तरीकों से कश्मीर (Kashmir Issue) के मुद्दे पर भारत को घेरने की कोशिश करता नज़र आता है. हालांकि, सभी मंचों पर भारत की तरफ से पाकिस्तान को करारा जवाब मिलता रहा है. अब एक नए मामले पर पाकिस्तान में कश्मीर मुद्दे पर चल रहे वेबिनार को भारतीय हैकर्स ने निशाना बनाया. पाकिस्तान ने आरोप लगाया है कि कथित रूप से भारतीय हैकरों ने एक बार फिर पाकिस्तानी साइट को हैक कर 'जय श्रीराम' के नारे लगाए.

मामला ये है कि कश्मीर के मुद्दे पाकिस्तानी अधिकारी एक इंटरनैशनल सेमिनार/वेबिनार कर रहे थे. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग साइट जूम पर यह सेमिनार चल रहा था. हालांकि इसी दौरान बैकग्राउंड में कुछ गाने बजने शुरू हो गए. ये भारतीय गाने थे जिनमें 'जय श्रीराम' के नारे सुनाई दे रहे थे. ये आमतौर पर भगवान राम के लिए भारत में बजने वाले गाने थे. सेमिनार में शामिल मेहमानों को कुछ समय तक लगता रहा कि कार्यक्रम का संचालन कर रहे डॉ. वलीद मलिक की ओर से गाने चल रहे हैं और उनसे इन्हें बंद करने के लिए कहा जाता रहा. हालांकि जब जय श्रीराम गूंजने लगा तो सभी की समझ में आ गया.






हम भारतीय हैं तुम रोते रहो..
गानों के बीच-बीच में ये आवाजें भी आती रहीं 'हम भारतीय हैं', 'रोते रहो'. इस दौरान डॉ. वलीद ने कहा कि वह इसे रिकॉर्ड कर रहे हैं. बाद में यह क्लिप सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो गई. इससे पहले भी भारतीय हैकरों ने कथित रूप से पाकिस्तान की यूनिवर्सिटीज की वेबसाइट हैक की थी.

बता दें कि कश्मीर से 370 हटाने के भारत के कदम के बाद पिछले कुछ महीने में पाकिस्तान ने कई आक्रामक प्रतिक्रियाएं दी हैं. पहले उसने पाकिस्तान का नया नक्शा जारी कर विवादित क्षेत्रों को सीधे अपना बता डाला. वहीं, अब गिलगिट-बाल्टिस्तान को प्रांत का दर्जा देने का ऐलान कर दिया. उसने नवंबर में यहां चुनाव कराने का फैसला भी किया है जिसका भारत हमेशा से विरोध करता आ रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज