सही जगह पर नहीं थे शरीर के अंदरूनी अंग, फिर भी 99 साल तक जीवित रही महिला

रोज मेरी बेंटले (फोटो सौ. AP)
रोज मेरी बेंटले (फोटो सौ. AP)

अमेरिका (America) में रहने वाली रोज मेरी बेंटली एक असाधारण महिला थीं. जब उनकी मौत (Death) हुई तो पता चला कि उनके शरीर के अंदरूनी अंग अपनी सही जगह पर नहीं थे. लेकिन बावजूद इसके वह 99 साल तक जीवित रहीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 4:45 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. कुछ लोग असाधारण प्रतिभा के साथ पैदा होते हैं. जिससे वो दुनिया में अपना नाम रोशन करते हैं. ऐसी ही एक महिला थी अमेरिका (America) की रहने वाली रोज मेरी बेंटले. वह एक तैराक थीं और उनके पांच बच्चे भी थे. रोज मेरी अपने पति के साथ एक स्टोर चलाती थीं. जहां पशुओं का चारा मिला करता था. 99 साल में उनकी मौत (Death) हो गई. मौते बाद जब उनके शव को पोर्टलैंड के हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी को डोनेट किया कर दिया गया. उसके बाद उनके शरीर का मेडिकल के कुछ स्टूडेंट्स ने अपनी पढ़ाई के दौरान उनके मृत शरीर की जांच की. जिसमें हैरान करने वाले कई रहस्य मिले. पढ़ाई के दौरान स्टूडेंट्स को रोज मेरी के सभी अंदरुनी अंग अपनी जगह पर नहीं मिले. जिसे देखकर छात्र दंग रह गए. छात्रों को ये समझ में नहीं आया कि आखिर कोई इंसान शरीर की इतनी सारी विकृतियों के बावजूद 99 साल तक जिंदा कैसे रह सकता है.

दरअसल, रोज मेरी के शरीर के अंदरूनी अंग गलत जगह पर थे. यही नहीं इन अंगों में कुछ का आकार सामान्य नहीं था तो कुछ अपनी जगह पर नहीं थे, यानि जहां किडनी होनी चाहिए वहां किडनी नहीं थी और जहां हार्ट होना चाहिए वहां हार्ट नहीं था और ये सभी अंग दूसरी जगह लगे हुए थे. वैज्ञानिक भाषा में इसे लेवोकार्डिया और साइटस इनवर्सस कहा जाता है और रोज मेरी 99 साल तक एक दम स्वस्थ स्थिति में जीती रहीं. बता दें कि इस स्थिति में शरीर के अंदरूनी अंग उलटे हो जाते हैं. छात्रों के प्रोफेसर कैमरन वॉकर ने जांच के बाद बताया कि, जिस तरह से बेंटली के शरीर में इतनी पेचीदगी पायी गई ऐसा 5 करोड़ में से किसी एक इंसान के अंदर हो होने की संभावना होती है.

ये भी पढ़ें: PHOTOS: 89 वर्षीय डॉक्टर बना 49 बच्चों का बाप, IVF के नाम पर करता था धोखाधड़ी



बेंटली का पाचन तंत्र भी था उल्टा
बता दें कि बेंटली के राइट फेफड़े में तीन के बजाय दो लोब यानि हिस्से थे, इस खुलासे के बाद रोज मेरी बेंटली की बेटी जिंजर रॉबिन्स ने बताया कि उनकी मां को कभी कोई दिक्कत नहीं थी. वह हमेशा स्वस्थ रहती थीं और बहुत अच्छी तैराक थीं. एनाटॉमी के छात्र नीलसन के मुताबिक, उनके दिल में एक बड़ी नस गायब थी, जो सामान्य तौर पर दाईं ओर पाई जाती है. बाद में वह उनके शरीर में बाईं ओर मिली. वहीं हार्ट का राइट एट्रीअम सामान्य आकार से दोगुना बड़ा था. यही नहीं रोज मेरी का पाचन तंत्र भी उल्टा था प्रोफेसर कैमरन वॉकर के मुताबिक, उनके शरीर में में लेफ्ट साइट में पेट होने के बजाय, राइट साइट में था. उसका जिगर भी राइट साइट में था जो लेफ्ट साइट में होना चाहिए. वहीं उनका पाचन तंत्र भी उल्टा था. मेडिकल साइंस में इसे चमत्कार कहा जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज