अचानक ईरानी पैसेंजर प्लेन के करीब आए दो अमेरिकी फाइटर जेट, बड़ा हादसा टला

अचानक ईरानी पैसेंजर प्लेन के करीब आए दो अमेरिकी फाइटर जेट, बड़ा हादसा टला
ईरान के पैसेंजर प्लेन के बेहद करीब आए अमेरिकी फाइटर जेट

ईरान (Iran) का एक पैसेंजर प्लेन सीरिया के एयरस्पेस से होकर उड़ान भर रहा था तभी दो अमेरिकी फाइटर जेट (US Fighter Jet) उसके बेहद करीब आ गए. फाइटर जेट को हमले की स्थिति में देख विमान का पायलट घबरा गया और उसने भी अचानक प्लेन की ऊंचाई कम कर दूसरी दिशा में जाने की कोशिश की जिससे कुछ यात्री घायल हो गए.

  • Share this:
तेहरान. सीरिया (Syria) के वायुक्षेत्र में गुरुवार को एक बड़ा हादसा होने से टल गया. ईरान (Iran) का एक पैसेंजर प्लेन सीरिया के एयरस्पेस से होकर उड़ान भर रहा था तभी दो अमेरिकी फाइटर जेट (US Fighter Jet) उसके बेहद करीब आ गए. फाइटर जेट को हमले की स्थिति में देख विमान का पायलट घबरा गया और उसने भी अचानक प्लेन की ऊंचाई कम कर दूसरी दिशा में जाने की कोशिश की. हालांकि पायलट की इस कोशिश में प्लेन में मौजूद कुछ यात्रियों के घायल होने की खबर है.

इस पूरी घटना में विमान ने काफी तेजी से अपना अल्टीट्यूड बदला जिससे महान एयरलाइन के इस प्लेन में सवार कुछ यात्री बेहोश होकर विमान के फर्श पर गिर गए. ये विमान तेहरान से बेरूत जा रहा था. फिलहाल ईरान ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं. हालांकि, अमेरिकी वायुसेना का कहना है कि एफ-15 फाइटर प्लेन सुरक्षित दूरी पर थे. ईरान ने शुरू में कहा था कि इजरायल का एक फाइटर जेट उसके यात्री विमान के पास आ गया था लेकिन बाद में पायलट के हवाले से कहा कि ये दो थे और खुद को अमेरिकी बता रहे थे. उधर, ईरान के इस आरोप पर अमेरिका के सेंट्रल कमांड ने कहा है कि उसके एफ-15 विमानों ने अपने अल तंफ एयरबेस की सुरक्षा के लिए 'अंतरराष्‍ट्रीय मानकों के अनुरुप' ईरान के यात्री विमान की जांच की थी.






ईरान ने दिए जांच के आदेश
ईरान की आधिकारिक समाचार एजेंसी IRIB के मुताबिक, इस हादसे में कुछ यात्रियों के सिर पर चोट आई, जबकि एक वीडियो सामने आया, जिसमें एक बुजुर्ग यात्री फर्श पर गिरा पड़ा था. सभी यात्रियों को बेरूत हवाई अड्डे पर उतार दिया गया है. जिन यात्रियों को चोटें आई हैं, उनका इलाज किया जा रहा है. इसके साथ ही विमान वापस तेहरान आ गया है. अमेरिकी सेना की मध्य कमान, जो क्षेत्र में अमेरिकी सैनिकों की देखरेख करती है, ने कहा कि एफ -15 फाइटर जेट, ईरानी विमान का विजुअल निरीक्षण कर रहा था. यह निरीक्षण उस वक्त हो रहा था, जब विमान सीरिया में तानफ गैरीसन के पास से गुजरा, जहां अमेरिकी सेना मौजूद है.

अमेरिकी मध्य कमान के प्रवक्ता कैप्टन बिल अर्बन ने कहा कि एफ -15 ने ईरानी विमान से करीब 1,000 मीटर (3,280 फीट) की सुरक्षित दूरी पर विजुअल निरीक्षण किया. इसका मतलब जवानों की सुरक्षा था. एक बार एफ -15 पायलट ने विमान को महान एयर यात्री विमान के रूप में पहचाना, फिर एफ -15 ने विमान से सुरक्षित रूप से दूरी बनाई. इस घटना से अमेरिका और ईरान के बीच एक बार फिर तनाव बढ़ गया है. तेहरान और वाशिंगटन के रिश्तों में 2018 से ही कड़वाहट आ गई है, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के 2015 परमाणु समझौते के साथ छह शक्तियों को खुद को अलग कर लिया था और ईरान की अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने के लिए उस पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading