हथियारों का आधुनिकीकरण करना नहीं बंद करेंगे: उत्तर कोरिया

हथियारों का आधुनिकीकरण करना नहीं बंद करेंगे: उत्तर कोरिया
हथियारों का आधुनिकीकरण करना नहीं बंद करेंगे

उत्तर कोरिया ने कहा कि ऐसा सोचने से बड़ी और कोई गलती नहीं होगी कि प्योंगयांग हथियार रखने के अपने अधिकारों को छोड़ देगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 30, 2019, 1:17 PM IST
  • Share this:
उत्तर कोरिया (North Korea) ने ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी पर आरोप लगाया है कि वे आत्मरक्षा (Self Defense) के लिए हथियारों के आधुनिकीकरण (Modernization) के उसके कदमों में हस्तक्षेप कर रहे हैं. उत्तर कोरिया ने कहा कि ऐसा सोचने से बड़ी और कोई गलती नहीं होगी कि प्योंगयांग हथियार रखने के अपने अधिकारों को छोड़ देगा. उत्तर कोरिया ने साफ कह दिया है कि वह हथियारों का आधुनिकीकरण करना बंद नहीं करेगा. प्योंगयांग का कहना है कि शांति सुनिश्चित करने के लिए हथियार जरूरी है.

उत्तर कोरिया की आधिकारिक ‘कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी’ ने किम सोन ग्योंग की ओर से एक बयान जारी किया है. इसमें साफ किया गया कि उत्तर कोरिया की शांति सुनिश्चित करने के लिए हथियार जरूरी हैं. ग्योंग कोरिया-यूरोप एसोसिएशन के सलाहकार हैं. अमेरिका के तीनों महत्वपूर्ण यूरोपीय सहयोगी देशों ने मंगलवार को उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों को लेकर उसकी निंदा की थी. उन्होंने कहा था कि प्योंगयांग उकसावे के लिए ये परीक्षण कर रहा है.

इन यूरोपीय देशों का आरोप है कि उत्तर कोरिया संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों का उल्लंघन कर रहा है. वहीं इन्होंने उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन से अमेरिका के साथ निरस्त्रीकरण को लेकर हुई बातचीत में प्रगति लाने को कहा. उनका कहना था कि उत्तर कोरिया में सुरक्षा और स्थिरता को सुनिश्चित करने का यही एक मात्र उपाय है.



उत्तर कोरिया ने बयान में कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा सुनिश्चित करना तब और महत्वपूर्ण हो जाता है, जब आपने ऐसे देश देखें हों जिनके भविष्य को पश्चिम शक्तियों ने टुकड़े टुकड़े कर दिया हो.
इसे भी पढ़ें : कराची से आतंक का रूट कैसे बन गया मुंबई का समुद्री रास्ता?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज