लाइव टीवी
Elec-widget

थोड़ी देर के लिए रुकी धड़कन, कैदी ने कहा - आजीवन कारावास की सजा हुई पूरी, मुझे करो रिहा


Updated: November 11, 2019, 2:13 PM IST
थोड़ी देर के लिए रुकी धड़कन, कैदी ने कहा - आजीवन कारावास की सजा हुई पूरी, मुझे करो रिहा
डेस मोइनेस रजिस्टर के अनुसार, श्रेइबर ने 1996 में एक कुल्हाड़ी के हत्थे से एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी. इसके बाद उसे आजवीन कारावास की सजा हुई.

डेस मोइनेस रजिस्टर के अनुसार, श्रेइबर ने 1996 में एक कुल्हाड़ी के हत्थे से एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी. इसके बाद उसे आजवीन कारावास की सजा हुई.

  • Last Updated: November 11, 2019, 2:13 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिका (United States of America) के आयोवा (Iowa) में एक कैदी बेंजामिन श्रेइबर ने अदालत में अपील दायर कर यह दावा किया कि उसकी आजीवन कारावास (Life Imprisonment)  की सजा पूरी हुए चार साल हो चुके हैं. 2015 में वह कुछ समय के लिए मर गया था. बाद में डॉक्टरों के प्रयास से उसकी सांसे दोबारा चलने लगीं. श्रेइबर ने तीन सदस्यीय बेंच (Court of Law) से मांग की कि उसे अब अपनी नई जिन्दगी जेल से बाहर जीने का मौका दिया जाए.

अदालत ने श्रेइबर की याचिका खारिज करते हुए कहा कि अगर वो जीवित है तो उसे जेल में होना चाहिए और अगर वह मर गया है तो फिर यह याचिका ही झूठी है. डेस मोइनेस रजिस्टर के अनुसार, श्रेइबर ने 1996 में एक कुल्हाड़ी के हत्थे से एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी. इसके बाद उसे आजवीन कारावास की सजा हुई.

अपनी रिहाई के लिए श्रेइबर दर्जनों याचिकाएं दाखिल कर चुका है. 2018 मे वपैलो की एक अदालत में उसने फिर याचिका दायर कर कहा कि जब वह 2012 में बीमारी से मर चुका था तब उसे उसकी इच्छा के विरूद्ध डॉक्टरों ने जीवित किया. याचिका में कहा गया कि मार्च 2015 में किडनी स्टोन की वजह से उसे सेप्टिक हो जाने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बुखार की वजह से श्रेइबर के बेहोश हो जाने के बाद अस्पताल के स्टाफ ने उसके भाई को बताया कि हालांकि उसे दर्द बर्दाश्त करने की दवाएं दी जा रहीं हैं लेकिन उसका बच पाना मुश्किल है.

श्रेइबर ने अपनी याचिका में दावा किया कि अस्पताल के लोगों ने उसके या उसके भाई के इच्छा के विरुद्ध उसे पुनर्जीवित किया. जज अमांडा पॉटरफील्ड ने अपने आदेश में कहा कि याचिकाकर्ता का तर्क उसकी मांग के लिए पर्याप्त नहीं है. लिहाजा कोर्ट ने कैदी को अपनी बाकी बची हुई जिन्दगी जेल में बिताने का आदेश दिया.

(साभार- न्यू यॉर्क टाइम्स)

ये भी पढ़ें:

1160 किलोमीटर की यात्रा करके बाघ ने तय किया अब तक का सबसे लंबा सफर
Loading...

दुल्हन को पसंद नहीं आया दुल्हे का 'नागिन डांस', शादी से किया इनकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 1:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...