लाइव टीवी

व्हाइट हाउस के कोरोना वायरस एक्सपर्ट गायब, ट्रंप से हुआ था मतभेद

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 12:38 PM IST
व्हाइट हाउस के कोरोना वायरस एक्सपर्ट गायब, ट्रंप से हुआ था मतभेद
डॉक्टर एंथनी फौसी के कोरोना वायरस के इलाज के तौर तरीकों को लेकर राष्ट्रपति ट्रंप से मतभेद हैं.

एक इंटरव्यू में कोरोना वायरस एक्सपर्ट (Coronavirus expert) डॉक्टर एंथनी (Dr Anthony Fauci) ने कहा था कि राष्ट्रपति ट्रंप को कोरोना वायरस को लेकर एक ही बात 4 बार बतानी पड़ती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 12:38 PM IST
  • Share this:
व्हाइट हाउस (White House) के कोरोना वायरस एक्सपर्ट (Coronavirus expert) डॉक्टर एंथनी फौसी (Dr Anthony Fauci) गायब हैं. वो लगातार दो दिन से व्हाइट हाउस में होने वाली कोरोना वायरस के प्रेस कॉन्फ्रेंस में नजर नहीं आ रहे हैं. संक्रमण रोगों के विशेषज्ञ डॉक्टर एंथनी की कोरोना वायरस के इलाज को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मतभेद हुए थे, जिसके बाद से वो व्हाइट हाउस की प्रेस ब्रीफिंग से गायब हैं.

डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक इंटरव्यू में कोरोना वायरस एक्सपर्ट डॉक्टर एंथनी ने कहा था कि राष्ट्रपति ट्रंप को कोरोना वायरस को लेकर एक ही बात 4 बार बतानी पड़ती है. रविवार को उनकी बातचीत पब्लिक हो गई थी. उसके बाद से वो व्हाइट हाउस के प्रेस कॉन्फ्रेंस में नहीं दिखे हैं.

डॉक्टर एंथनी के गायब होने पर चिंतित हुए अमेरिकी
अमेरिका के लोग उनके गायब होने पर चिंता जता रहे हैं. ट्विटर पर लोग सवाल पूछ रहे हैं कि आखिर कोरोना वायरस एक्सपर्ट डॉक्टर एंथनी कहां गायब हैं. एक ट्विटर यूजर ने लिखा है- 'आखिर वो शख्स कहां है, जिसपर हम सबसे ज्यादा भरोसा करते हैं. कहां हैं डॉक्टर फौसी'. एक दूसरे ट्विटर यूजर ने लिखा है- 'डॉक्टर फौसी कहां है. मुझे सही तथ्य जानना है. मुझे ये पसंद नहीं है, अगर डॉक्टर फौसी नहीं हो.'



ट्रंप से जब इस बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने जवाब दिया- 'वो अच्छे आदमी हैं. मैं डॉक्टर फौसी को पसंद करता हूं. आपको ये समझना चाहिए. वो यहां नहीं हैं क्योंकि हम इस बात पर चर्चा कर रहे हैं कि वो किस काम में बेहतरीन साबित हो सकते हैं. वो जल्दी ही वापस आएंगे.'

डॉक्टर एंथनी फौसी ने साइंस को दिए एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि जब आप व्हाइटहाउस के साथ काम कर रहे होते हैं तो आपको एक ही चीज 4 बार बतानी पड़ती है. ये बार-बार होता है. इसलिए मैं अपने को लगातर आगे कर रहा हूं. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज के डायरेक्ट फौसी ने कहा कि वो बार-बार ट्रंप के बयान को सुधारना चाहते हैं. लेकिन वो ट्रंप का माइक छीनकर उन्हें पीछे नहीं धकेल सकते.

ट्रंप के बयान की डॉक्टर एंथनी ने की थी आलोचना
डॉक्टर फौसी ने ट्रंप की सार्वजनिक तौर पर आलोचना करते हुए कहा था कि 'मैं टास्क फोर्स को ये बता चुका हूं. मैं स्टाफ से कह चुका हूं. हम ऐसा नहीं कर सकते हैं. सिर्फ इतना ही नहीं हमें उन प्रेस कॉन्फ्रेंस से दूर रहना चाहिए.'

दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डॉक्टर एंथनी के बीच कोरोना वायरस के इलाज और उसके तौर तरीकों को लेकर कई मतभेद हैं. डॉक्टर एंथनी चाहते हैं कि व्हाइट हाउस वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस करे ताकि वहां मौजूद एक्सपर्ट, राजनेता और पत्रकारों के संक्रमण में आने से रोका जाए. आधिकारिक सलाह है कि 10 आदमी से ज्यादा किसी भी तरह की भीड़ से बचा जाना चाहिए.

डॉक्टर एंथनी ने कहा है कि जैसा ट्रंप कह रहे हैं, उन्होंने कभी नहीं कहा कि कोरोना वायरस चीन का वायरस है और हम उन्हें इसका जिम्मेदार मानें. आलोचकों ने ट्रंप के बयान को नस्लवादी करार दिया है.

ट्रंप कोरोना वायरस के इलाज में एंटी मलेरिया दवाओं को कारगर मान रहे हैं. ट्रंप ने यहां तक कहा है कि कोरोना वायरस के इलाज में ये भगवान का वरदान साबित हो सकता है. डॉक्टर एंथनी उनकी बात से इत्तेफाक नहीं रखते हैं. उनका कहना है कि इसका क्लिनिकल ट्रायल अभी बहुत कम हुआ है. इसलिए इस बारे में पुख्ता तौर पर अभी कुछ नहीं कह जा सकता.

ये भी पढ़ें:

कोरोना वायरस से बचने के लिए ट्रंप की ‘सलाह’ मानकर मर गया एक शख्स!
कोरोना वायरस: साउथ कोरिया से सीख सकते हैं, संक्रमण पर कैसे पाया जाता है काबू
कोरोना वायरस एक्सपर्ट से बुखार का नाम सुनते ही ट्रंप के छूटे पसीने!
Covid 19: टेस्‍ट की गई वैक्‍सीन रही कारगर तो तुरंत लाखों डोज बना लेगी ये कंपनी
सरकार ने देश की 12 निजी लैब को दी कोरोना टेस्‍ट की मंजूरी, यहां जानें LIST

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 12:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर